राहुल गांधी के प्रधानमंत्री बनने का सपना हास्यास्पद : स्मृति ईरानी

Smriti Irani takes jibe at rahul gandhi on his PM aspiration

यादगिर। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा अगले आम चुनाव के बाद प्रधानमंत्री बनने की संभावना जताए जाने के चंद घंटे के भीतर ही उनकी कटु आलोचक और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने तंज कसते हुए कहा कि जब नरेंद्र मोदी लोगों के भविष्य को लेकर गंभीर हैं तो ऐसे में गांधी अपने भविष्य को लेकर ‘चिंतित’ हैं।

ईरानी ने यहां एक चुनावी सभा में कहा कि जहां प्रधानमंत्री जनता के भविष्य की चिंता कर रहे हैं वहीं दूसरी ओर राहुल गांधी अपने भविष्य की बात कर रहे हैं।

कांग्रेस के गढ़ अमेठी से वर्ष 2014 में गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ चुकीं ईरानी ने कहा कि मैंने सुना कि गांधी ने कहा कि यदि कांग्रेस जीतती है तो वह प्रधानमंत्री बन सकते हैं। इसका मतलब हुआ कि राहुल गांधी खुद भी अपनी पार्टी को लेकर अाश्वस्त नहीं हैं।

उन्होंने कहा कि गांधी ने कहा कि अगर (यदि कांग्रेस जीतती है)..इसका मतलब वह व्यक्ति अपने भविष्य को लेकर आश्वस्त नहीं है। उन्होंने गांधी पर हमला जारी रखते हुए कहा कि जिस व्यक्ति के पास वंदे मातरम गीत गाने के लिए एक मिनट का समय नहीं है वह अगला प्रधानमंत्री बनने का सपना देख रहा है।

इससे पूर्व बेंगलुरु में राहुल गांधी ने आज कहा कि अगले वर्ष होने वाले आम चुनाव में यदि उनकी पार्टी सबसे बड़े दल के रूप में उभरती है तो वह प्रधानमंत्री बनने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि उनका प्रधानमंत्री बनना इस बात पर निर्भर करता है कि अगले आम चुनाव में कांग्रेस का प्रदर्शन कैसा रहता है।

उन्होंने कहा कि यदि उनकी पार्टी चुनाव में सबसे बड़े दल के रूप में उभरती है तो वह प्रधानमंत्री की जिम्मेदारी उठाने के लिए तैयार हैं। उन्होंने पूरे विश्वास के साथ कहा कि नरेन्द्र मोदी देश के अगले प्रधानमंत्री नहीं होंगे।

गांधी कर्नाटक विधानसभा के 12 मई को होने वाले चुनाव के प्रचार के सिलसिले में इस समय वहां की यात्रा पर हैं। बेंगलुरु में समृद्धि भारत फाउंडेशन को संबोधित करने के मौके पर गांधी ने संवाददाताओं से कहा कि 2019 का उनका राजनीतिक आकलन सही साबित होगा और मोदी प्रधानमंत्री नहीं बनेंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्ष एकजुट हो जाता है तो अगले आम चुनाव में भाजपा का सूपड़ा साफ हो जाएगा।