सरकारी योजनाओं का लाभ लोगों तक पहुंचाने की जिम्मेदारी समाज भी उठाए

सरकारी योजनाओं का लाभ लोगों तक पहुंचाने की जिम्मेदारी समाज भी उठाए
सरकारी योजनाओं का लाभ लोगों तक पहुंचाने की जिम्मेदारी समाज भी उठाए

भोपाल । मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि राज्य सरकार ने गरीबों, प्रतिभावान विद्यार्थियों और युवाओं के विकास के लिए कई योजनाएं शुरू की हैं और इनका लाभ पात्र व्यक्तियों तक पहुंचाने की जिम्मेदारी समाज के लोगों की भी है।

चौहान ने कल यहां मुख्यमंत्री निवास पर अखिल भारतीय किरार, धाकड़ क्षत्रिय महासभा की ओर से आयोजित सम्मान समारोह को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि समाज के लोग महिलाओं, बच्चों और युवाओं को आगे बढ़ाने के प्रयासों में सक्रिय योगदान दें। इस अवसर पर विधायक रामकृष्ण पटेल, महासभा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवाजी पटेल और बड़ी संख्या में महासभा के पदाधिकारी और सदस्य उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री ने सामाजिक क्षेत्र में कार्य के लिये महिलाओं को प्रेरित करने, प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को परीक्षा पूर्व तैयारियों और छात्रावासों, धर्मशालाओं आदि जनउपयोगी सामुदायिक भवनों के निर्माण के लिये एकजुट प्रयासों की जरूरत बताई है।

उन्होंने कहा कि संबल योजना, मुख्यमंत्री मेधावी विद्यार्थी प्रोत्साहन योजना, उद्यमी और स्वरोजगार योजनाओं के पात्र परिवारों और हितग्राहियों को प्रेरित और चिन्हित करने के लिये समाज आगे आयें। महासभा टास्क फोर्स बनाकर सरकार द्वारा संचालित योजनाओं के पात्रों को चिन्हित करें। पात्रतानुसार लाभान्वित किये जाने वाले व्यक्तियों और परिवारों की सूची बनायें।

महासभा की राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती साधना सिंह ने संगठन की गतिविधियों का विवरण देते हुये कहा कि महासभा द्वारा प्रकाशित स्मारिका में रिकार्ड 1490 बायोडेटा का प्रकाशन किया गया। पूर्ण सांस्कृतिक मान्यताओं और वैवाहिक रस्मों के अनुसार सामूहिक विवाह कार्यक्रम सम्पन्न हुये। उन्होंने कहा कि सभी के सहयोग से ही समाज आगे बढ़ेगा। महासभा के कार्यों में सब की समान जिम्मेदारी है।

समाज के प्रदेश अध्यक्ष प्रेमनारायण पटेल ने कहा कि महासभा द्वारा आयोजित परिचय सम्मेलन ने समाज की एकता को नई दिशा देने का कार्य किया है। यह सफलता, महासभा के कुशल नेतृत्व, समन्वय, सम्पर्क, संगठन और विनम्र व्यवहार से संभव हुई है।