फास्ट फूड के साथ शीतल पेय कब्ज को देती है दावत

सहारनपुर। पिज्जा, बर्गर या फास्ट फूड खाते समय कोल्ड ड्रिंक पी रहे हैं तो यह तय है आप कब्ज के रोगी हो रहे है और कब्ज ही सभी रोगो की जननी है।

यदि आप कब्ज से मुक्ति चाह रहे हैं तो भोजन करते समय ठण्डा पानी या कोल्ड ड्रिंक नहीं पिएं। योग गुरु गुलशन कुमार ने आज कहा कि हमारे शरीर के भीतर एक जठराग्नि है जो मुंह से लिए गए आहार का पचाती है। पेट मे भोजन पचाने की क्रिया अमाशय में होती है लेकिन यदि भोजन के साथ ठण्डे जल श अन्य शीतल पेय का सेवन किया जाता है तो पचाने वाली जठराग्नि मन्द पड जाती है।

आधुनिक चिकित्सा विज्ञान की भी माने तो भोजन को पचाने वाले अम्लीय रस, गैस्ट्रिक जूस व पैन्क्रिएटिक जूस व एंजाइम डाइल्यूट हो जाते है। ऐसी स्थिति में पेट मे भोजन पचता नहीं है बल्कि पेट में सडता है तब शरीर में गैस, एसिडिटी, खट्टी डकार आदि की शिकायतें होने लगती है।

उन्होंने कहा कि कब्ज से शरीर में भंयकर बीमारियां आगे चलकर पैदा होती हैं। फैटी लीवर, बदहजमी, कोलेस्ट्रॉल का आधिक्य, ह्रदय रोग, यूरिक एसिड की बढने से समस्याएं पैदा होती हैं। पिज्जा, बर्गर को स्वादिष्ट बनाने के लिए नमक का प्रयोग अधिक मात्रा में होता है जिससे हड्डियों के रोग, हाई बल्ड प्रैशर, मोटापा व दिल की बीमारियां होने की आशंका बनी रहती है।

इसके साथ साथ आगे चलकर मेटाबोलिक डिस्आर्डर, डायबिटीज, कोलेस्ट्रॉल बढने की शिकायतें देखी गई हैं। बर्गर में फैटी एसिड व मैदे का बना होने से आंतों में चिपकता है इसलिए भी कब्ज होता है। योग में भुंजगासन, कटिचक्रासन व उर्ध्व हस्त्तोतानासन कब्ज के उपचार हैं। नींद पूरी नही होने पर भी पेट साफ नहीं होता। इसलिए नींद पूरी ले। सकारात्मक भी रहे।