मंत्री न बनाए जाने से कुछ विधायक खफा, उन्हें मना लेंगे : कांग्रेस

मंत्री न बनाये जाने से कुछ विधायक खफा,लेकिन उन्हें मना लिया जायेगा
मंत्री न बनाये जाने से कुछ विधायक खफा,लेकिन उन्हें मना लिया जायेगा

चंडीगढ़। पंजाब मंत्रिमंडल का विस्तार होने के बाद अब प्रदेश कांग्रेस ने मंत्री न बनाए जाने से नाराज विधायकों को मनाने की कवायद शुरू कर दी है।

इसी सिलसिले में रविवार को एक बैठक बुलाई गई जिसमें प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़, पार्टी प्रभारी आशा कुमारी, सह प्रभारी हरीश चौधरी, नवजोत सिद्धू, अरूणा चौधरी, तृप्त राजिंदर बाजवा और नाराज विधायक डॉ राजकुमार वेरका तथा अन्य नेताओं ने हिस्सा लिया।

जाखड़ ने बैठक के बाद कहा कि कांग्रेस में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के खिलाफ कोई गुटबाजी नहीं है। मंत्री न बनाए जाने से कुछ विधायक खफा जरूर हैं लेकिन उन्हें मना लिया जाएगा। पार्टी पूरी तरह एकजुट है तथा जिसकी जो नाराजगी होगी उसे मिल बैठकर हल कर लिया जाएगा। सभी को अहम जिम्मेदारियां दी जाएगी।

ज्ञातव्य है कि कई बार चुनाव जीतने वाले कई ऐसे विधायक हैं जिन्हें किन्हीं कारणों से मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किया गया। विशेषकर अनुसूचित जाति के कुछ विधायकों को उम्मीद थी कि सभी वर्गों और हलकों को प्रतिनिधित्व दिया जाएगा लेकिन उनका नाम न आने से कई विधायक तो शपथ ग्रहण समारोह में शामिल ही नहीं हुए।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह की सूची पर मोहर लगा दी। जो विधायक गांधी के करीबी माने जाते हैं उन्हें भी मंत्री नहीं बनाया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि मंत्रिमंडल विस्तार में कोई पक्षपात नहीं किया गया तथा सभी वर्गों तथा क्षेत्रों काे प्रतिनिधित्व दिया है। चयन का मुख्य आधार वरिष्ठता को रखा गया। जो विधायक नाराज हैं तो उन्हें मना लिया जाएगा।