औरैया में मां की मृत्यु से विक्षिप्त ने शव को किया कमरे में बंद

औरैया। उत्तर प्रदेश में औरैया जिले के बिधूना क्षेत्र में बीमारी के चलते मां के निधन से दुखी विक्षिप्त ने शव को कमरे में दो दिन तक बंद रखा। ग्रामीणों की शिकायत पर पुलिस ने मौके पर पहुंच कर मृतक का अंतिम संस्कार कराया।

अपर पुलिस अधीक्षक कमलेश दीक्षित ने बुधवार को बताया कि ग्राम भिखरा में बुजुर्ग महिला सुमन त्रिपाठी (80) दो रोज पहले मृत्यु हो गई थी, जिससे दुखी संजय ने दाह क्रिया करने से मना कर दिया और शव को मकान के कमरे में बन्द कर बाहर निकल गया। जानकारी होने पर पुलिस ने पहले संजय को तलाश किया, बाद में उसे समझाकर दाह क्रिया के लिए राजी कर लिया।

ग्रामीणों ने बताया कि सुमन पिछले काफी समय से डाट्स बीमारी से पीड़ित थी जिनकी मृत्यु हो गई थी। मां की मृत्यु की जानकारी होने पर विक्षिप्त पुत्र शव को अपने मकान के अंदर कमरे में रखे था, जिसमें बदबू आने लगी थी।

मौके पर पहुंची पुलिस संजय को तलाश कर घर पर ले आई, इस दौरान वह कभी गांव वालों से परेशान हो दाह क्रिया न करने की बात कहता तो कभी मुस्लिम धर्म अपना लेने की बात कह मां के शव को दफनाने की बात कहता। काफी समझाने के बाद पुलिस ने शव को बाहर निकालवाया और उसकी मंशानुरूप शव को दफनवा दिया।