सोनिया गांधी के रात्रिभोज में दिखी विपक्षी दलों की एकजुटता

Sonia Gandhi hosts dinner for opposition parties
Sonia Gandhi hosts dinner for opposition parties

नई दिल्ली। संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन की प्रमुख एवं कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा आयोजित रात्रिभोज में मंगलवार को विपक्षी दलों की एकजुटता नजर आई जिसे अगले वर्ष होने वाले आम चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ व्यापक मोर्चा बनाए जाने की कवायद के रूप में देखा जा रहा है।

सोनिया गांधी हाल ही में कह चुकीं हैं कि अगले आम चुनाव में देशहित में सभी विपक्षी दलों को भाजपा के खिलाफ एकजुट होना चाहिए। उन्होंने भाजपा को सत्ता से बाहर करने के लिए आपसी छोटे मोटे मतभेदों को भुलाने की जरुरत बताई थी। उन्होंने कहा था कि वह विपक्ष की एकजुटता के लिए विभिन्न दलों के नेताओं से बातचीत करेंगी।

इस रात्रिभोज को इसकी शुरुआत माना जा रहा है। इसमें 20 दलों के नेता शामिल हुए। इन नेताओं ने संसद में जारी गतिरोध पर चिंता जताई और आरोप लगाया कि सरकार संसद नहीं चलने दे रही है। सभी दलों के नेताओं का मानना है कि संसद चलाना सरकार की जिम्मेदारी है और इस जवाबदेही से सरकार बच नहीं सकती।

रात्रिभोज के बाद कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीपसिंह सुरजेवाला ने पत्रकारों से कहा कि विपक्षी दलों के नेता देश के समक्ष मौजूद मुद्दों की चिंता करते हुए साथ आए हैं और सभी ने सामूहिक रूप से कहा कि सरकार ही संसद नहीं चलने देने के लिए जिम्मेदार है। यह लोकतंत्र के लिए ठीक नहीं है। इन दलों के प्रतिनिधि संसद में हैं और इन सभी ने देश की जनता के प्रति अपनी जिम्मेदारी और राष्ट्रहित में संसद चलाने के लिए जवाबदेही सुनिश्चित करने पर चर्चा की।

रात्रिभोज में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार, तृणमूल कांग्रेस के सुदीप्त बंद्योपाध्याय, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के मोहम्मद सलीम, समाजवादी पार्टी के रामगोपाल यादव, बहुजन समाज पार्टी के सतीशचंद्र मिश्रा द्रमुक नेता कनिमोझी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी तथा पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहनसिंह मौजूद थे।

इनके साथ ही राष्ट्रीय जनता दल के तेजस्वी यादव तथा मीसा भारती, नेशनल कांफ्रेंस के उमर अब्दुल्ला, झारखंड मुक्ति मोर्चा के हेमंत सोरेन, राष्ट्रीय लोकदल के अजीतसिंह, भाकपा के डी राजा, आईयूएमएल के कुट्टी, जेवीएम के बाबूलाल मरांडी, आरएसपी के एन के प्रेमचंद्रन, जनता दल यू से अलग हुए गुट के नेता शरद यादव, हिंदुस्तान अवामी मोर्चा के जीतन राम मांझी, जनता दल एस के डॉ के रेड्डी तथा एआईयूडीएफ के बदरुद्दीन अजमल भी इसमें शामिल हुए।

भोज में राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलामनबी आजाद तथा लोकसभा में पार्टी के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहदम पटेल, एके एंटनी भी मौजूद थे।