PM की सुरक्षा चूक : केन्द्र सख्त, सोनिया गांधी का CM चन्नी से जवाब तलब

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में बुधवार को हुई चूक को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी से आज फोन पर बात की और इस मामले में उनसे विस्तृत जानकारी मांगी। इस बीच गृह मंत्रालय ने इस घटना की जांच के लिए समिति गठित कर दी है।

सूत्रों के मुताबिक सोनिया गांधी ने चन्नी से कहा कि नरेंद्र मोदी पूरे देश के प्रधानमंत्री हैं। सुरक्षा मे चूक के लिए जो भी जिम्मेदार हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए और इस पूरे मामले में किसी भी तरह की कोताही नहीं बरती जानी चाहिए।

सोनिया गांधी के सख्त रुख को देखते हुए चन्नी ने इस मामले की जांच के लिए उच्च स्तरीय समिति का गठन कर दिया है और समिति से तीन दिन में रिपोर्ट देने को कहा है। समझा जाता है कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक को लेकर केंद्र सरकार के कड़े रुख को देखते हुए सोनिया गांधी ने चन्नी से फोन पर बात की।

चन्नी ने कल इस घटना को गंभीरता से नहीं लिया था। कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला एक कदम आगे निकले और उन्होंने घटना को बहुत ही हल्के में लेते कहा था कि रैली में भीड़ नहीं जुटी इसलिए मोदी लौट आए और सुरक्षा चूक का बहाना बनाया।

कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने भी आज इसी अंदाज़ में घटना को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस की लेकिन शाम होते-होते कांग्रेस अध्यक्ष ने घटना की गंभीरता को देखते हुए मुख्यमंत्री से फोन पर बात की और पूरे घटनाक्रम का जायजा लिया।

गृह मंत्रालय ने जांच के लिए बनाई समिति

गृह मंत्रालय ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बुधवार को पंजाब के फिराेजपुर दौरे के दौरान सुरक्षा में हुई चूक की घटना की जांच के लिए कैबिनेट सचिवालय में सचिव (सुरक्षा) सुधीर कुमार सक्सेना के नेतृत्व में तीन सदस्यीय समिति का गठन किया है।

मंत्रालय ने गुरुवार को एक बयान में कहा कि समिति के अन्य सदस्यों में खुफिया ब्यूरो के संयुक्त निदेशक बलबीर सिंह और विशेष सुरक्षा दल के महानिरीक्षक एस सुरेश शामिल हैं। समिति को यथाशीघ्र रिपोर्ट देने के लिए कहा गया है।

पीएम की जान को खतरे का असली मकसद उनकी सरकार को गिराना हैं : चन्नी

मुख्यमंत्री तथा उप मुख्यमंत्री दोनों अपनी जिम्मेदारी से भाग रहे : अमरिंदर