अमरीका के दो अंतरिक्ष यात्री सफलतापूर्वक आईएसएस पहुंचे

 

वाशिंगटन। अमकारी के दो अंतरिक्ष यात्री डाैग हर्ले और बॉब बेहनकेन स्पेसएक्स नासा मिशन के तहत सफलतापूर्वक अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (आईएसएस) पहुंच गए हैं। नासा के दोनों अंतरिक्ष यात्रियों को निजी कंपनी स्पेसएक्स के अंतरिक्ष यान ड्रैगन कैप्सूल से आईएसएस पर पहुंचाया गया।

अमरीकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने शनिवार को दो अंतरिक्ष यात्रियों को निजी कंपनी स्पेसएक्स के अंतरिक्ष यान से अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (आईएसएस) के लिए भेजा था। इससे पहले 28 मई को राकेट का प्रक्षेपण किया जाना था लेकिन खराब मौसम के कारण इसे टाल दिया गया था। नौ वर्षों बाद पहली बार अमरीकी धरती से कोई मानव मिशन अंतरिक्ष में भेजा गया।

अंतरिक्ष यान ड्रैगन कैप्सूल केनेडी अंतरिक्ष केंद्र से उड़ाने भरने के 19 घंटों बाद अंतरिक्ष यात्रियों को लेकर आईएसएस पर पहुंचा है। अमरीका में इस मिशन के साथ एक नया अध्याय शुरू हो गया है क्योंकि नासा अब अपने द्वारा उपयोग किए जाने वाले अंतरिक्ष यानों का स्वामी नहीं होगा और वाणिज्यिक क्षेत्र से इन सेवाओं की खरीद करेगा।

उल्लेखनीय है कि अमरीका की किसी निजी कंपनी ने पहली बार कोई राकेट अंतरिक्ष में भेजा है और वह भी ऐसे समय, जब समूची दुनिया वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के प्रकोप से दो-चार हो रही है।

इसी वायरस के परिप्रेक्ष्य में अमरीका की चीन और रूस ही नहीं बल्कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के साथ भी खींचातानी चल रही है। कोरोना वायरस के मौजूदा संकट से परे नासा के अधिकारियों का कहना है कि नौ साल बाद अंतरिक्ष में रॉकेट का प्रक्षेपण देश और देशवासियों का मनोबल बढ़ाने में सहायक होगा।