सोनिया गांधी, राहुल और प्रियंका से हटेगी एसपीजी सुरक्षा

spg-security-removed-to-rahul-and-sonia-gandhi
spg-security-removed-to-rahul-and-sonia-gandhi

केंद्र की मोदी सरकार ने अभी कुछ दिनों पहले पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह को मिली एसपीजी सुरक्षा हटा दी थी । मनमोहन सिंह को बाद में जेड प्लस सुरक्षा मुहैया कराई गई थी । अब केंद्र सरकार ने एक और बड़ा फैसला लेते हुए गांधी परिवार के सदस्यों, सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से एसपीजी सुरक्षा हटाने के आदेश दिए हैं । हालांकि उनके पास अब भी जेड प्लस सुरक्षा दी जाएगी ।

जानकारी के मुताबित केंद्र सरकार सभी एजेंसियाें के इनपुट के आधार पर यह फैसला लिया है । हालांकि अभी इस मामले पर गांधी परिवार के सदस्यों की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है । अब पूरे देश में सिर्फ पीएम मोदी के पास ही एसपीजी का सुरक्षा कवच रह जाएगा ।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इंदिरा गांधी की उनके सुरक्षा गार्डों द्वारा हत्या करने के बाद प्रधानमंत्री की सुरक्षा के लिए साल 1985 में एसपीजी की स्थापना की गई थी । साल 1991 में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या के बाद एसपीजी एक्ट में संशोधन किया गया और इसमें पूर्व प्रधानमंत्री और उनके परिवार को अगले 10 साल तक एसपीजी सुरक्षा देने का प्रावधान किया गया । साल 2003 में वाजपेयी सरकार में इस एक्ट में संशोधन किया गया और वह दस साल की सीमा को एक साल कर दिया गया ।

what is spg security in india

एसपीजी का सुरक्षा करने का इंतजाम सबसे सख्त रहता है

एसपीजी काफी प्रशिक्षित इकाई है और यह सभी आधुनिक उपकरणों, वाहनों से लैस है । एसपीजी की टीम में स्नाइपर्स, बम निरोधक विशेषज्ञ भी होते हैं । ये जवान वीवीआईपी की सुरक्षा में उनके साये की तरह उनके साथ रहते हैं । एसपीजी के पास अत्याधुनिक रायफल्स, अंधेरे में देख पाने वाले चश्मे, संचार के कई अत्याधुनिक उपकरण, बुलेटप्रूफ जैकेट, ग्लब्स, कोहनी और घुटनों पर लगाने वाले गार्ड भी होते हैं। एसपीजी के पास अत्याधुनिक वाहनों का दस्ता होता है। इन जवानों के पास कई अत्याधुनिक गाड़ियां भी उपलब्ध रहती हैं ।

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार