अजमेर : आध्यात्मिक ध्यान केन्द्र का हुआ शुभारम्भ

अजमेर। सर्वोदय कॉलोनी शास्त्री नगर में आध्यात्मिक केन्द्र का शुभारम्भ किया गया। इसके लिए कमला अग्रवाल ने अपना 200 गज का पूर्ण निर्मित भवन आध्यात्मिक उपयोग के लिए हार्टफुलनेस संस्थान, श्रीरामचन्द्र मिशन को दान दिया।

श्रीमती अग्रवाल ने बताया कि उन्होंने स्व प्रेरणा से संस्था को यह भवन दान दिया। इसकी नाम शिला पट्टीका का अनावरण किया गया। इस कार्य से अजमेर वासियों की आध्यात्मिक उन्नति होगी। अभ्यासियाें को ध्यान के लिए एक स्थान उपलब्ध होगा। इससे क्षेत्र में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होगा। यह भवन भविष्य में तपोभूमि के रूप में विकसित होगा।

संस्थान के अजमेर केन्द्र समन्वयक शैलेश गोड ने बताया कि कमला अग्रवाल ने अपने पिता जगन प्रसाद अग्रवाल की याद में यह भवन संस्था को दान किया। उनकी इच्छा के अनुसार यहां हमेशा आध्यात्मिक उन्नति एवं व्यक्तित्व विकास का कार्य होता रहेगा। व्यक्तियों को तनावमुक्त रहकर जीवन में नई ऊंचाईयां हासिल करने के लिए निःशुल्क प्रशिक्षित किया जाएगा।

जैन मन्दिर के सामने स्थित इस भवन में समस्त धर्मों एवं वर्गों के व्यक्ति निर्धारित पद्धति के अनुसार ध्यान कर सकेंगे। शहर के लिए यह गर्व का विषय रहेगा। जीवन में भौतिक तथा आध्यात्मिक पक्षों के मध्य समन्वय स्थापित कर आत्मिक विकास का कार्य इस भवन के माध्यम से किया जाएगा।

जवाहर लाल नेहरू आयुर्विज्ञान महाविद्यालय के एसोसिएट प्रोफेसर एवं ध्यान प्रशिक्षक डॉ. विकास सक्सेना ने बताया कि समस्त व्यक्तियों को अपने हृदय में विद्यमान दिव्य ईश्वरीय प्रकाश में डूबने का अभ्यास करना चाहिए। एक-एक हृदय को अध्यात्मिक दिशा में ले जाने से पूरा समाज आध्यात्मिकता की रोशनी से जगमगा उठेगा।

हटूण्डी बीएड कॉलेज की सेवानिवृत्त सह आचार्य सुश्री चन्द्रलेखा सक्सेना ने बताया कि बच्चों को माता-पिता के द्वारा मिले संस्कार जीवन भर साथ रहते है। माता-पिता के द्वारा ध्यान करने से बच्चे भी शुरूआत से ही ध्यान करना प्रारम्भ कर देते है।