क्या क्राइम केस में बदल रहा है श्रीदेवी की मौत का मामला?

सबगुरु न्यूज। वॉलीवुड सुपरस्टार श्रीदेवी की मौत पहले दिन एक सामान्य मौत लग रही थी लेकिन अब यह एक क्राइम केस में बदलता दिख रहा है। श्रीदेवी की मौत बाथटब में डूबने से हुई है और अब श्रीदेवी को आखिरी बार जीवित देखने वाले बोनी कपूर से दुबई में पूछताछ हो रही है।

बोनी कपूर ने पहले पुलिस को बताया था कि वे श्रीदेवी के बाथरुम में जाने के बाद बाहर उनका इंतज़ार करने लगे लेकिन 15 मिनट से ज्यादा बीत जाने पर उन्होनें श्रीदेवी को आवाज़ दी जिसपर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई। ये श्रीदेवी के बाथरुम जाने के 15 मिनट बाद ही हुआ।

श्रीदेवी की मौत : नशे की हालत में बाथटब में डूबने से गई जान?

उधर, होटल स्टाफ के अनुसार श्रीदेवी दो दिनों से अपने कमरे से बाहर नहीं आई थीं। फिर बोनी कपूर के डिनर इनवाइट पर वह नीचे चलने को राज़ी हुईं। थ्योरी के अनुसार इस समय उन्होंने शराब पी रखी थी क्योंकि पोस्टमोर्टेम रिपोर्ट में श्रीदेवी के खून में शराब मिली है। ऐसा माना जा रहा है कि वो जब बाथरूम में घुसीं तो वो नशे की हालत में थीं।

बोनी कपूर ने होटल स्टाफ़ की मदद से दरवाज़ा तुड़वाया तो अंदर उन्हें श्रीदेवी बाथटब में मिलीं। ये साफ़ नहीं है कि उस समय श्रीदेवी बाथटब में किस अवस्था में थीं और बाथटब में पानी पहले से था या उन्होंने भरा था। बोनी कपूर ने तुरंत होटल स्टाफ को बुलाया और हालात देखकर पुलिस को बुला लिया गया।

पुलिस के मुताबिक श्रीदेवी नशे की हालत में थीं और बैलेंस बिगड़ने से वो टब में गिरी। टब में गिर कर वह क्यों उठ नहीं सकीं ये सवाल पुलिस के लिए भी एक पहेली बना हुआ है? उनका बाथटब में मिलना, गिरने पर मदद के लिए न चिल्लाना, नशे में होना, ऐसे कई सवाल हैं जिनके जवाब खोजने में दुबई पुलिस जुटी है।

देर रात या मंगलवार को लाया जा सकता है शव

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पोस्टमार्टम के बाद श्रीदेवी के शव पर लेप की प्रक्रिया मंगलवार को ही पूरी हो सकेगी। जिस कारण उनका शव सोमवार को भारत नहीं लाया जा सकेगा। उधर, अस्पताल की तरफ से श्रीदेवी का डेथ सर्टिफिकेट भी जारी कर दिया गया है। लेकिन दुबई पुलिस ने अब इस मामले को दुबई पब्लिक प्रॉसिक्यूशन को सौंप दिया है जिस कारण श्रीदेवी के परिजनों को शव लेने के लिए सरकारी वकील की इजाजत का इंतजार करना पड़ रहा है।

दुबई के नियमों के मुताबिक ऐक्सिडेंटल डेथ के ऐसे मामलों में पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट और फॉरेंसिक रिपोर्ट को पब्लिक प्रॉसिक्यूशन के हवाले किया जाता है। अगर मौत में किसी भी तरह का संदेह या साजिश की आशंका होती है तो आगे जांच के भी आदेश दिए जा सकते हैं। सबकुछ सामान्य रहने पर सरकारी वकील डेड बॉडी को परिजनों को सौंपने का आदेश जारी कर सकते हैं। श्रीदेवी की पोस्टमार्टम या फरेंसिक रिपोर्ट में किसी तरह के संदेह या साजिश की बात अबतक सामने नहीं आई है।

औपचारिकताएं पूरी होने के बाद चार्टड विमान से श्रीदेवी का पार्थिव शरीर मुंबई के लिए रवाना होगा और उम्मीद की जा रही है कि यहां देर रात तक विमान लैंड होगा। अंतिम संस्कार से पहले अपनी प्रिय अभिनेत्री की एक झलक पाने के लिए लोग बेताब हैं।