स्टीवन स्मिथ और डेविड वार्नर को आस्ट्रेलियाई विश्वकप टीम में जगह

Steven Smith and David Warner place in Australian World Cup
Steven Smith and David Warner place in Australian World Cup

मेलबोर्न । बहुचर्चित बॉल टेम्परिंग प्रकरण में एक वर्ष के लिये निलंबन झेल चुके स्टीवन स्मिथ और डेविड वार्नर को आस्ट्रेलिया की 15 सदस्यीय विश्वकप टीम में शामिल किया गया है।

क्रिकेट आस्ट्रेलिया(सीए) ने सोमवार को आईसीसी विश्वकप के लिये अपनी टीम घोषित कर दी जिसमें पूर्व कप्तान स्मिथ और उपकप्तान वार्नर जगह बनाने में कामयाब रहे हैं जबकि पीटर हैंड्सकोंब और जोश हेजलवुड जैसे खिलाड़ियों को बाहर रखा गया है।

स्मिथ और वार्नर पर गत वर्ष दक्षिण अफ्रीका दौरे में केपटाउन टेस्ट में गेंद के साथ छेड़छाड़ करने का आरोप लगा था जिसके लिये दोनों को एक एक वर्ष के लिये निलंबित किया गया था। दोनों ही खिलाड़ियों का निलंबन इसी वर्ष समाप्त हुआ है और वे फिलहाल इंडियन प्रीमियर लीग में अपनी अपनी फ्रेंचाइजियों के लिये खेल रहे हैं।

दोनों खिलाड़ियों को सीए के वर्ष 2019-2020 के केंद्रीय अनुबंध में शामिल किया गया है। निलंबन के बाद से इनके लिये यह पहला मौका होगा जब वे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में खेलने उतरेंगे। इंग्लैंड एंड वेल्स में 30 मई से शुरू होने वाले विश्वकप में आस्ट्रेलियाई टीम अपने अभियान की शुरूआत ब्रिसटल में अफगानिस्तान के खिलाफ करेगी।

इससे पहले आस्ट्रेलियाई टीम ब्रिसबेन में न्यूजीलैंड के साथ तीन एकदिवसीय मैचों में खेलेगी और इंंग्लैंड में मुख्य टूर्नामेंट से पूर्व कुछ अभ्यास मैचों में भी हिस्सा लेगी। वार्नर भारत में आईपीएल टूर्नामेंट में फिलहाल अपनी टीम सनराइजर्स हैदराबाद के लिये खेल रहे हैं जबकि स्मिथ राजस्थान रायल्स की ओर से खेल रहे हैं।

आस्ट्रेलिया की कप्तानी का जिम्मा आरोप फिंच को सौंपा गया है। मिशेल स्टार्क को पांच तेज़ गेंदबाजों के समूह में जगह दी गयी है जबकि उन्होंने आस्ट्रेलिया के आखिरी 13 वनडे मैचों में हिस्सा नहीं लिया है। हेजलवुड को टीम से बाहर रखा गया है जो जनवरी से ही पीठ की चोट के कारण टीम से बाहर हैं।

चयन समिति ने पैट कमिंस और जाए रिचर्डसन को टीम में शामिल किया है जो कंधे की चोट के बाद वापसी करेंगे। चयनकर्ता प्रमुख ट्रेवर होंस ने हालांकि कहा कि स्टार्क और रिचर्डसन को फिटनेस के आधार पर ही जगह मिलेगी। आईसीसी की अनुमति से कोई भी टीम 23 मई तक अपनी टीमों में फेरबदल कर सकती हैं।

हैंड्सकोंब की टीम से अनुपस्थिति का मतलब है कि शीर्ष क्रम में बल्लेबाज़ों की अधिकता रहेगी। कप्तान फिंच ने कहा,“ हम जानते हैं कि हैंड्सकोंब काफी निराश होंगे। हमने कई मुश्किल फैसले किये हैं और कुछ खिलाड़ियों को लेकर हमें ऐसे फैसले लेने पड़े और दुर्भाग्य से हैंड्सकोंब उनमें से एक हैं। लेकिन मौजूदा टीम में सभी खिलाड़ी मजबूत हैं और यह एक अच्छी टीम है।”

15 सदस्यीय टीम में स्मिथ और वार्नर को शामिल करने को लेकर ही सबसे अधिक अटकलें लगायी जा रही थीं जिनका बैन गत माह ही समाप्त हुआ है। बैन समाप्ति के बाद ये दोनों खिलाड़ी आस्ट्रेलिया के पाकिस्तान के सीमित ओवर दौरे के लिये भी उपलब्ध थे लेकिन चयनकर्ताओं ने इन्हें अंतिम एकादश में जगह नहीं दी। हालांकि दोनों खिलाड़ी बैन के दौरान घरेलू और लीग क्रिकेट में लगातार खेलते रहे थे।

गत चैंपियन आस्ट्रेलियाई टीम रिकार्ड छठी बार फिर खिताब की प्रबल दावेदारों में है जिसने भारत और पाकिस्तान के खिलाफ घरेलू सीरीज़ में लगातार आठ वनडे जीते हैं। चयनकर्ता प्रमुख ने कहा,“हम अपनी वनडे टीम से बहुत खुश हैं , पिछले छह महीने में इस टीम ने जिस तरह का प्रदर्शन किया है और भारत तथा पाकिस्तान में सीरीज़ जीती है उससे यह दर्शाता है कि यह विश्वकप में किस मजबूती के साथ उतरेगी।”

उन्होंने कहा,“ स्मिथ और वार्नर की टीम में वापसी हुयी है और ये दोनों ही विश्व स्तरीय क्रिकेटर हैं। ये दोनों आईपीएल में खेल रहे हैं और इनकी मौजूदा फार्म देखकर हमें संतोष हो रहा है।” स्मिथ और वार्नर के बैन के दौरान कप्तान फिंच और उस्मान ख्वाजा ओपनिंग के दो माहिर खिलाड़ी बन गये थे लेकिन अब कोच लेंगर को देखना होगा कि वह विश्वकप में सलामी बल्लेबाज़ वार्नर को मौका देते हैं या मौजूदा जोड़ी को ही उतारते हैं। मध्यक्रम में टीम के पास स्मिथ, ग्लेन मैक्सवेल और ऑलराउंडर मार्कस स्टोइनिस हैं। चयनकर्ताओं ने दो स्पिनरों एडम जम्पा और नाथन लियोन तथा पांच तेज़ गेंदबाजों को मौका दिया है।

टीम इस प्रकार है- आरोप फिंच(कप्तान), उस्मान ख्वाजा, डेविड वार्नर, स्टीवन स्मिथ, शॉन मार्श, ग्लेन मैक्सवेल, मार्कस स्टोइनिस, एलेक्स कारी, पैट कमिंस, मिशेल स्टार्क, जाए रिचर्डसन, नाथन कोल्टर नाइल, जेसन बेहरेनड्रॉफ, नाथन लियोन, एडम जम्पा।