लगातार चौथे दिन चढ़ा शेयर बाजार

Stock market climbed for the fourth consecutive day
Stock market climbed for the fourth consecutive day

मुंबई  विदेशों से मिले सकारात्मक संकेतों के बीच निवेशकों की लिवाली से घरेलू शेयर बाजार लगातार चौथे दिन चढ़ते हुये दो सप्ताह से ज्यादा के उच्चतम स्तर पर पहुँच गयी।

उतार-चढ़ाव से होता हुआ सेंसेक्स 92.90 अंक यानी 0.24 प्रतिशत चढ़कर 38,598.99 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 43.25 अंक यानी 0.38 प्रतिशत की बढ़त में 11,471.55 अंक पर बंद हुआ।

मझौली कंपनियों में जहाँ बिकवाली हावी रही, वहीं छोटी कंपनियों में लिवाली का जोर रहा। बीएसई का मिडकैप 0.14 प्रतिशत की गिरावट में 13,920.41 अंक पर आ गया जबकि स्मॉलकैप 0.21 प्रतिशत की बढ़त में 12,799.92 अंक पर पहुँच गया।

सेंसेक्स की कंपनियों में बजाज फाइनेंस के शेयर साढ़े तीन फीसदी से ज्यादा चढ़े। ओएनजीसी में दो प्रतिशत से अधिक और एचडीएफसी में करीब दो प्रतिशत की तेजी रही। हीरो मोटोकॉर्प के शेयर करीब पौने तीन प्रतिशत और वेदांता के करीब ढाई प्रतिशत टूट गये।

सेंसेक्स 130.96 अंक चढ़कर 38,637.05 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान सीमित दायरे में कारोबार करते हुये इसमें उतार-चढ़ाव देखा गया। शुरुआती कारोबार में 38,666.38 अंक तक चढ़ने के बाद दोपहर बाद यह कुछ समय के लिए लाल निशान में भी चला गया। एक समय यह 38,416.67 अंक तक उतर गया था। कारोबार की समाप्ति पर यह गत दिवस के मुकाबले 92.90 अंक ऊपर 38,598.99 अंक पर बंद हुआ जो 30 सितंबर के बाद का उच्चतम स्तर है।

निफ्टी भी 36.65 अंक की बढ़त के साथ 11,464.95 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान इसका दिवस का उच्चतम स्तर 11,481.05 अंक और निचला स्तर 11,411.10 अंक दर्ज किया गया। अंतत: यह गत दिवस की तुलना में 43.25 अंक ऊपर 11,471.55 अंक पर रहा। यह इसका भी 30 सितंबर के बाद का उच्चतम स्तर है। निफ्टी की 50 में से 30 कंपनियों के शेयर हरे निशान में और 19 के लाल निशान में रहे जबकि एक का शेयर दिन भर के उतार-चढ़ाव के बाद अंतत: अपरिवर्तित रहा।

बीएसई में कुल 2,667 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें 1,317 के शेयर गिरावट में और 1,152 के बढ़त में रहे जबकि अन्य 198 के शेयर के भाव में कोई बदलाव नहीं हुआ।

विदेशों में अधिकतर एशियाई बाजार हरे निशान में रहे। हांगकांग का हैंगसेंग 0.61 प्रतिशत, दक्षिण कोरिया का कोस्पी 0.71 प्रतिशत और जापान का निक्की 1.20 प्रतिशत की बढ़त में बंद हुये। चीन का शंघाई कंपोजिट 0.41 प्रतिशत लुढ़क गया। यूरोप में शुरुआती कारोबार में ब्रिटेन के एफटीएसई में 0.36 प्रतिशत की गिरावट रही जबकि जर्मनी का डैक्स 0.02 प्रतिशत चढ़ा।

बीएसई के समूहों में तेल एवं गैस में सबसे ज्यादा 1.20 प्रतिशत की बढ़त रही। रियलिटी का सूचकांक 1.09 प्रतिशत तथा ऊर्जा का 0.94 प्रतिशत चढ़ा। बिजली समूह का सूचकांक 1.06 प्रतिशत और यूटिलिटीज का 0.88 प्रतिशत की गिरावट में रहा।

सेंसेक्स की कंपनियों में बजाज फाइनेंस के शेयर सबसे ज्यादा 3.57 प्रतिशत चढ़े। ओएनजीसी में 2.05 प्रतिशत, एचडीएफसी में 1.88, एचसीएल टेक्नोलॉजीज में 1.55, येस बैंक में 1.35, टेक महिंद्रा में 1.10, आईसीआईसीआई बैंक में 0.83, सनफार्मा में 0.73, रिलायंस इंडस्ट्रीज में 0.69, एक्सिस बैंक में 0.51, इंफोसिस में 0.48, टीसीएस में 0.41, हिंदुस्तान यूनिलिवर में 0.41, बजाज ऑटो में 0.38, भारती एयरटेल में 0.35 और इंडसइंड बैंक में 0.13 प्रतिशत की तेजी रही।

हीरो मोटोकॉर्प के शेयर सबसे ज्यादा 2.73 प्रतिशत, वेदांता के 2.44, एशियन पेंट्स के 2.04, एनटीपीसी के 1.59, आईटीसी के 1.54, पावरग्रिड के 1.44, भारतीय स्टेट बैंक के 0.97, टाटा मोटर्स के 0.91, एलएंडटी के 0.58, टाटा स्टील के 0.47, कोटक महिंद्रा बैंक के 0.45, मारुति सुजुकी के 0.16, एचडीएफसी बैंक के 0.14 और महिंद्रा एंड महिंद्रा के 0.09 प्रतिशत की गिरावट में रहे।