नए शिखर पर शेयर बाजार, बना इतिहास

Sensex Breaches 37500 Level; Nifty At Fresh Lifetime High Of 11318

मुंबई। मजबूत निवेश धारणा के बीच बैंकिंग, ऊर्जा और पावर क्षेत्र की कंपनियों में लिवाली से आज घरेलू शेयर बाजार एक बार फिर नए शिखर को छूने में कामयाब रहे।

बीएसई का 30 शेयरों वाला संवदी सूचकांक सेंसेक्स 157.55 अंक यानी 0.42 प्रतिशत की छलाँग लगाकर 37,494.40 अंक पर बंद हुआ। यह लगातार छठा कारोबारी दिवस है जब बाजार ने नया रिकॉर्ड बनाया है। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 41.20 अंक यानी 0.37 प्रतिशत की तेजी के साथ 11,319.55 अंक पर पहुंच गया।

दूरसंचार समूह में सबसे ज्यादा करीब तीन प्रतिशत की तेजी रही। बैंकिंग, ऊर्जा और पावर क्षेत्रों के सूचकांक भी एक फीसदी से अधिक की बढ़त में रहे।

सेंसेक्स की कंपनियों में भारती एयरटेल ने पाँच प्रतिशत का मुनाफा कमाया। आईसीआईसीआई बैंक के शेयर पौने पाँच प्रतिशत, भारतीय स्टेट बैंक के पौने चार प्रतिशत और एक्सिस बैंक के ढाई प्रतिशत से अधिक चढ़े।

सेंसेक्स 154.54 अंक चढ़कर 37,491.39 अंक पर खुला। विदेशी बाजारों से मिले नकारात्मक संकेतों के दबाव में शुरुआती कारोबार में यह 37,292.45 अंक के दिवस के निचले स्तर तक उतरा, लेकिन कंपनियों के बेहतर तिमाही परिणामों से उत्साहित निवेशकों की लिवाली से कारोबार की समाप्ति से पहले एक समय यह 37,533.50 अंक के सर्वकालिक उच्चतम स्तर पर पहुँच गया। अंतत: यह गत दिवस के मुकाबले 157.55 अंक ऊपर 37,494.40 अंक पर बंद हुआ। यह अब तक का रिकॉर्ड बंद स्तर है।

निफ्टी 18.30 अंक की तेजी के साथ 11,296.65 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान 11,328.10 अंक के सर्वकालिक उच्चतम स्तर को छूता हुआ यह गत दिवस के मुकाबले 41.20 अंक ऊपर 11,319.55 अंक पर बंद हुआ जो इसका भी रिकॉर्ड बंद स्तर है। इसका दिवस का निचला स्तर 11,261.45 अंक रहा। निफ्टी की 50 में से 27 कंपनियाँ लाल और शेष 23 हरे निशान में रहीं।

बीएसई में कुल 2,846 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ जिनमें 1,606 कंपनियों के शेयर हरे तथा 1057 के लाल निशान में रहे जबकि 183 कंपनियों के शेयरों में कोई बदलाव नहीं हुआ। मझौली और छोटी कंपनियों में भी निवेशकों ने पैसा लगाया। बीएसई का मिडकैप 0.30 प्रतिशत चढ़कर 15,961.10 अंक पर और स्मॉलकैप 0.55 अंक की बढ़त में 16,540.44 अंक पर पहुँच गया।

अधिकतर विदेशी बाजारों में गिरावट रही। एशिया में दक्षिण कोरिया का कोस्पी 0.06 प्रतिशत, चीन का शंघाई कंपोजिट 0.12 प्रतिशत, हांगकांग का हैंगसेंग 0.25 प्रतिशत और जापान का निक्की 0.74 प्रतिशत लुढ़क गये। यूरोप में शुरुआती कारोबार में जर्मनी का डैक्स 0.19 प्रतिशत फिसला जबकि ब्रिटेन के एफटीएसई में 0.13 प्रतिशत की तेजी रही।

बीएसई के 20 में से 16 समूह बढ़त में रहे। दूरसंचार का सूचकांक सबसे ज्यादा 2.85 प्रतिशत चढ़ा। ऊर्जा में 1.32 प्रतिशत, बैंकिंग में 1.30 और पावर में 1.18 प्रतिशत की तेजी रही। इनके अलावा पीएसयू, बुनियादी वस्तुओं, सीडीजीएंडएस, एफएमसीजी, वित्त, स्वास्थ्य, यूटिलिटीज, ऑटो, टिकाऊ उपभोक्ता उत्पाद, धातु, तेल एवं गैस और रियलिटी के सूचकांक भी चढ़े। आईटी में सबसे ज्यादा 0.73 प्रतिशत की गिरावट रही।

सेंसेक्स की कंपनियों में भारती एयरटेल के शेयर सबसे ज्यादा 5.13 प्रतिशत चढ़े। आईसीआईसीआई बैंक के शेयर 4.76 प्रतिशत, भारतीय स्टेट बैंक के 3.75, एक्सिस बैंक के 2.67, महिंद्रा एंड महिंद्रा के 2.52, वेदांता के 2.25, पावर ग्रिड के 1.98, हिंदुस्तान यूनिलिवर के 1.90, रिलायंस इंडस्ट्रीज के 1.78, ओएनजीसी के 1.74, सनफार्मा के 1.12, एनटीपीसी के 0.78, मारुति सुजुकी के 0.70, टाटा स्टील के 0.57, हीरो मोटोकॉर्प के 0.35, कोल इंडिया के 0.21 और टीसीएस के 0.10 प्रतिशत की बढ़त में बंद हुए।

सबसे ज्यादा 1.56 प्रतिशत की गिरावट इंफोसिस में रहे। एचडीएफसी बैंक के शेयर 1.41 प्रतिशत, एलएंडटी के 1.19, अदानी पोर्ट्स के 0.90, एचडीएफसी के 0.80, इंडसइंड बैंक के 0.50, कोटक महिंद्रा बैंक के 0.48, विप्रो के 0.38, आईटीसी के 0.36, बजाज ऑटो के 0.34, यस बैंक के 0.23, एशियन पेंट्स के 0.17 और टाटा मोटर्स के 0.15 प्रतिशत टूटे।