बैंकिंग समूह में लिवाली से उछला शेयर बाजार

Stock market sprung on buying in banking group
Stock market sprung on buying in banking group

मुंबई। देश के निजी बैंकों को सरकारी लेन देन की अनुमति दिए जाने के बल पर बैंकिंग और वित्तीय समूह में हुई भारी लिवाली के बल पर शेयर बाजार बुधवार को उड़ान भरने में सफल रहा।

बीएसई का सेंसेक्स लिवाली के बल पर 50 हजार अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर को पार करते हुए 50,781.69 अंक पर पहुंच गया। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 1030.28 अंक बढ़कर 50,781.69 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 274.20 अंक चढ़कर 14,982.00 अंक पर पहुंच गया। दिग्गज कंपनियों के साथ ही छोटी और मझोली कंपनियों में भी भारी लिवाली का जोर बना रहा जिससे बीएसई का मिडकैप 0.77 प्रतिशत बढ़कर 20,113.85 अंक पर और स्मॉलकैप 1.08 प्रतिशत उछलकर 20,019.97 अंक पर बंद हुआ।

सरकार ने निजी बैंकों के सरकारी कामकाज करने पर लगी रोक हटा दी है जिससे अब वे भी सरकारी लेनदेन कर सकेंगे।
इस संबंध में वित्तीय सेवाओं के विभाग ने बताया कि इस निर्णय से भारतीय रिज़र्व बैंक को शीघ्र अवगत करा दिया जाएगा।
बीएसई में आज कुल 3099 कंपनियों में कारोबार हुआ इनमें 1,863 कंपनियों के शेयर हरे निशान में और 1,068 के लाल निशान में बंद हुये जबकि शेष 168 कंपनियों के शेयर दिनभर के उतार-चढ़ाव के बाद अंतत: अपरिवर्तित रहे।

बीच में तकनीकी खामियों के कारण शेयर बाजार में कारोबार को बंद कर दिया गया था इसलिए बाजार में शाम पांच बजे तक कारोबार हुआ।

बीएसई का सेंसेक्स आज 12.53 अंक की बढ़त के साथ 49763.94 अंक पर खुला और 50881.17 अंक के उच्चतम स्तर तक पहुंचा। दोपहर बाद लगातार जारी लिवाली के बल पर अंत में पिछले दिवस के 49751.41 अंक के मुकाबले 2.07 प्रतिशत की जबर्दस्त तेजी के साथ 50781.69 अंक पर बंद हुआ।

निफ्टी 21.35 अंक की बढ़त के साथ 14,729.15 अंक पर खुला। इसका दिवस का उच्चतम स्तर 15,008.80 अंक और न्यूनतम स्तर 14,723.05 अंक रहा। अंत में यह गत दिवस की तुलना में 274.20 अंक की तेजी के साथ 14,982.00 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी की 50 में से 36 कंपनियों के शेयर चढ़े और शेष 14 लाल निशान में रहे।

बीएसई में अधिकांश समूह बढ़त में रहे जिसमें बैंकेक में 3.70 प्रतिशत, फाइनेंस में 3.32 प्रतिशत, एनर्जी में 1.90 प्रतिशत और कैपिटल गुड्स में 1.82 प्रतिशत की तेजी दर्ज की गयी। जबकि यूटीलिटी में 0.13 प्रतिशत और पॉवर में 0.08 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गयी है।

वैश्विक स्तर पर एशिया में चीन के शंघाई कम्पोजिट, हांगकांग के हैंगसैंग और जापान के निक्की में गिरावट दर्ज की गयी। जापान के निक्की में 1.61 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गयी, हांगकांग के हैंगसैंग में 2.99 प्रतिशत की भारी गिरावट रही जबकि चीन के शंघाई कम्पोजिट में भी 1.99 प्रतिशत की कमी देखी गयी। वहीं यूरोप के मुख्य सूचकांकों में जर्मनी के डैक्स में 0.76 प्रतिशत जबकि ब्रिटेन के एफटीएसई में 0.16 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गयी।

सेंसेक्स में गिरावट और बढ़त में रहने वाली कंपनियों में महिंद्रा में 1.19, भारतीय स्टेट बैंक में 2.65 प्रतिशत, एचडीएफसी बैंक में 5.04, अल्ट्राटेक सीमेंट में 2.36, नेस्लेइंडिया में 1.15, रिलायंस में 2.04, पावरग्रिड में 1.46, एचडीएफसी में 3.06 प्रतिशत, एनटीपीसी में 0.29, डॉरेड्डी में 1.06, हिन्दुस्तान यूनिलीवर में 0.00 प्रतिशत, एलएंडटी में 2.59, मारुति में 0.41, भारती एयरटेल में 1.34 प्रतिशत, टाइटन में 1.65 प्रतिशत, इंडसइंड बैंक में 2.04, बजाजफाइनेंस सर्विस में 2.17, एचसीएलटेक में 0.71, बजाजऑटो में 0.45, टेकमहिंद्रा में 1.47, आईसीआईसीआई बैंक में 4.1, इंफोसिस में 0.62, एशियनपेंट में 0.19, एक्सिसबैंक में 4.6 और ओएनजीसी में 1.34 प्रतिशत, आईटीसी में 0.14 प्रतिशत, सन फार्मास्यूटिकल्स में 0.25, बजाजफाइनेंस में 3.15, कोटैक महिंद्रा बैंक में 2.18 और टीसीएस में 0.96 प्रतिशत की वृद्धि और गिरावट दर्ज की गयी।