शेयर बाजार : वायदा-विकल्प, वैश्विक संकेत तय करेंगे चाल

मुंबई। अगले सप्ताह भारतीय शेयर बाजारों में उतार-चढ़ाव का रुख बना रह सकता है क्योंेकि निवेशक फरवरी 2018 से मार्च 2018 के वायदा और विकल्प खंड में अपनी स्थिति तय करेंगे जबकि फरवरी की डेरिवेटिव निविदा की समाप्ति गुरुवार (22 फरवरी) को हो रही है।

इसके अलावा बाजार की चाल घरेलू और वैश्विक व्यापक आर्थिक आंकड़े, कंपनियों के तिमाही नतीजे, वैश्विक बाजारों के प्रदर्शन, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) और घरेलू संस्थापक निवेशकों (डीआईआई) द्वारा किए गए निवेश, डॉलर के खिलाफ रुपये की चाल और कच्चे तेल की कीमतों का प्रदर्शन के आधार पर तय होंगे।

कॉरपोरेट से जुड़ी खबरों में, अंबुजा सीमेंट्स अपनी अक्टूबर-दिसंबर (2017) तिमाही के नतीजों की घोषणा मंगलवार (20 फरवरी) को करेगी। एस्टर डीएम हेल्थकेयर के शेयरों को अगले हफ्ते शेयर बाजार में सूचीबद्ध किया जाएगा।

कंपनी का आईपीओ (आरंभिक सार्वजनिक निर्गम) गुरुवार (15 फरवरी) को बंद हुआ था, जो 1.31 गुणा सब्सक्राइव हुआ। कंपनी अरब सहयोग परिषद (जीसीसी) राष्ट्रों में अपना परिचालन करती है, जिनमें संयुक्त अरब अमीरात, ओमान, सऊदी अरब, कतर, कुवैत और बहरीन के साथ ही भारत और फिलीपींस शामिल हैं।

वैश्विक मोर्चे पर अमेरिका की मार्किट कंपोजिट फ्लैश पर्चेजिंग मैनेजर्स सूचकांक (पीएमआई) का फरवरी का आकंड़ा बुधवार (21 फरवरी) को जारी किया जाएगा। 17 फरवरी को समाप्त होने वाले सप्ताह के लिए अमेरिका का प्रारंभिक बेरोजगारी दावे के आंकड़े गुरुवार (22 फरवरी) को जारी किए जाएंगे।

एशिया में जापान का फरवरी का निक्केई मैनुफैक्चरिंग फ्लैश पीएमआई आंकड़ा बुधवार (21 फरवरी) को जारी किया जाएगा। जापान की प्रमुख वस्तुओं की मुद्रास्फीति का जनवरी का आंकड़ा शुक्रवार (23 जनवरी) को जारी किया जाएगा।

यूरोप में जर्मनी की चौथी तिमाही की सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का आंकड़ा शुक्रवार (23 फरवरी) को जारी किया जाएगा।