अजमेर : महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय के छात्रों का हल्ला बोल

अजमेर। राजस्थान में अजमेर स्थित महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय पर अपनी मांगों को लेकर सोमवार को विद्यार्थियों ने प्रदर्शन किया।

शहर के सभी महाविद्यालयों के चुने हुए छात्र प्रतिनिधियों की मौजूदगी में प्रदर्शन किया गया। विश्वविद्यालय के मुख्य गेट के बाहर बड़ी संख्या में छात्र छात्राएं इकट्ठे हुए और विश्वविद्यालय के लापरवाह अधिकारियों को बर्खास्त करने एवं छात्र समस्याओं के निराकरण की मांग को लेकर प्रदर्शन किया गया।

महाविद्यालय के पूर्व अध्यक्ष मोहित जैन एवं लोकेश गोदारा की अगुवाई में छात्र छात्राओं ने विश्वविद्यालय प्रशासन को चेताने के लिए नगाड़े एवं बिगुल बजाकर हल्लाबोल प्रदर्शन किया तथा महाविद्यालय के बाहर खुले नाले के ऊपर कामचोर अधिकारियों का प्रतिकात्मक श्राद्ध किया गया।

छात्र नेता मोहित जैन ने बताया कि गत वर्ष 11 अक्टूबर से विश्वविद्यालय में कुलपति के कामकाज पर रोक है जिसके चलते विश्वविद्यालय परिसर एवं महाविद्यालयों के विद्यार्थियों की समस्याओं का समाधान नहीं हो पा रहा है।

विश्वविद्यालय के अधिकारी लापरवाह एवं उदासीन हो चले है जिसके कारण आज मजबूरन अजमेर शहर के सभी महाविद्यालयों एवं विश्वविद्यालय से जुड़े विद्यार्थियों ने छात्रसंघों के बैनरतले एक जाजम पर आकर विश्वविद्यालय प्रबंधन के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया तथा 23 सूत्रीय मांगपत्र कुलाधिपति के नाम जरिए विश्वविद्यालय छात्र कल्याण अधिष्ठाता को सौंपा गया।

गौरतलब है कि विश्वविद्यालय में लंबे समय से कुलपति और रजिस्ट्रार के न होने से जरुरी काम भी ठप्प पड़े है। दो दिन पहले निकाली गई सूची में सरकार ने रजिस्ट्रार का पद तो भर दिया है।

पुलिस ने दी नसीहत तो छात्र उखडे

यूनिवर्सिटी पूर्व अध्यक्ष मोहित जैन व पूर्व अध्यक्ष लोकेश गोदारा की डिप्टी प्रियंका से टकरार होती रही, डिप्टी ने छात्रनेताओं की संयम में रहने की नसीहत दी तो पूर्व अध्यक्ष मोहित जैन ने डिप्टी से कहा कि आप लॉ इन ऑर्डर के लिए हो आप अपना काम करो हमे अपना करने दो।

खेल सचिव को सुनाई खरी खरी

प्रदर्शन के बाद छात्रसंघ के समस्त नेता राज्यपाल के नाम का ज्ञापन देने यूनिवर्सिटी के अंदर आए मौके पर यूनिवर्सिटी के चीफ़ प्रॉक्टर सुब्रोतो दत्ता ओर डीन स्टूडेंट वेलफ़ेयर प्रो. अरविंद पारीख ज्ञापन लेने पंहुचे तो लोकेश गोदारा व सीताराम चौधरी उखड़ गए दोनों नेताओ ने कहा कि जब तक खेल सचिव दिग्विजयसिंह चौहान को बुलाया नहीं जाएगा तब तक कोई वार्ता नहीं की जाएगी, इस बात पर गोदारा की चीफ़ प्रॉक्टर दत्ता से बहस हो गई छात्रनेताओं के तेवर देख दिग्विजयसिंह को मेन गेट पर आना पड़ा, चौहान के आते ही छात्रनेताओं का गुस्सा उन पर फट पड़ा और चौहान को जमकर खरी-खोटी छात्रनेताओं ने सुनाई और काम करने की नसीहत दी।

छात्रसंघ के पदाधिकारियों ने अंत मे डीन स्टूडेंट्स वेलफ़ेयर प्रो. अरविंद पारीख को राज्यपाल के नाम का ज्ञापन सौंपा। डीन ने छात्रों की बात मानते हुए ज्ञापन तुरन्त राजभवन ईमेल करवाकर छात्रनेताओं को उसकी प्रति भी दी। छात्रनेताओं ने कहा कि राज्यपाल से मिलने का समय लिया जाएगा और इन सभी मांगों को लेकर राज्यपाल से हस्तक्षेप करने की मांग की जाएगी।

ये छात्रनेता रहे मौजूद

हल्ला बोल प्रदर्शन में एमडीएस पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष मोहित जैन, पूर्व अध्यक्ष लोकेश गोदारा, डीएवी कॉलेज छात्रसंघ अध्यक्ष सीताराम चौधरी, गवर्नमेंट कॉलेज अध्यक्ष विकास गौरा, गर्ल्स कॉलेज अध्यक्ष कान्ता जाखड़, लॉ कॉलेज अध्यक्ष हिमांशु चौहान, एमडीएस यूनिवर्सिटी के उपाध्यक्ष दीपक चौधरी व संयुक्त सचिव प्रभाष पूरी गोस्वामी, श्रमजीवी कॉलेज अध्यक्ष दिनेश कुमार, डीएवी कॉलेज से उपाध्यक्ष सोहिल खान, महासचिव प्रमोद चौहान, सचिव पिंकू जाट, पूर्व उपाध्यक्ष अभिषेक आमेरा, दक्ष चौधरी, प्रगति मिश्रा इत्यादि छात्रनेता मौजूद रहे।

गर्ल्स कॉलेज से छात्रसंघ उपाध्यक्ष पूजा मेगवंशी, महासचिव खुसबू सांखला, छात्र नेता दीपिका बगड़िया, पार्वती चौधरी, काजल बागड़ी, मोनीशका राठौड़, जीसीए से छात्रसंघ उपाध्यक्ष संजय मेघवंशी, छात्रनेता पायल जैन, मोहित तूनवाल सैनी, ऋषभ मेघवंशी व महेश अजमेरा, ला कॉलेज से छात्रसंघ अध्यक्ष हिमांशु के साथ महासचिव निखिल कांसोटिया तथा श्रमजीवी अध्यक्ष के साथ छात्रनेता सौरव गौड मौजूद रहे।