भाजपा में लोकतंत्र के कारण राजग गठबंधन सफल : मोदी

Successful NDA alliance due to roots of democracy in BJP: Modi
Successful NDA alliance due to roots of democracy in BJP: Modi

नई दिल्ली। राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन में तनाव के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि वह सबसे बेहतरीन तरीके से गठबंधन का नेतृत्व करने में सफल रहे हैं और साथ ही उन्होंने कहा कि ऐसा इसलिए हो सका, क्योंकि ‘लोकतंत्र’ भारतीय जनता पार्टी की जड़ों, मूल्यों और रगों में है। राष्ट्रीय राजधानी में दीनदयाल उपाध्याय मार्ग पर भाजपा के नए मुख्यालय के उद्घाटन के अवसर पर प्रधानमंत्री ने यह टिप्पणी की।

मोदी ने कहा कि भारत में बहु-दलीय लोकतांत्रिक व्यवस्था में गठबंधन की राजनीति स्वाभाविक है। निजी हित के चलते गठबंधन बनाना और तोड़ना एक अलग बात है। गठबंधन में सहयोगी दलों को साथ लेकर चलना पड़ता है।

उन्होंने कहा कि अटलजी (पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी) के नेतृत्व में भाजपा ने इसका सफलतापूर्वक प्रयोग किया था। ऐसा ही प्रयास 1967 में भी संयुक्त विधायक दल द्वारा किया गया था, लेकिन वह सफल नहीं हो सका था।

मोदी ने कहा कि हम सफल इसलिए हुए, क्योंकि लोकतंत्र हमारी जड़ों, मूल्यों और रगों में है। इसके चलते हम सर्वश्रेष्ठ तरीके से गठबंधन का संचालन कर रहे हैं और हम आगे बढ़ रहे हैं।

भाजपा के नेतृत्व वाले राजग में हालिया समय में उभरे असंतोष के बीच प्रधानमंत्री की यह टिप्पणी महत्वपूर्ण है। भाजपा के प्रमुख सहयोगी दलों तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) और शिव सेना के साथ कई मुद्दों पर उसका टकराव देखने को मिल रहा है।

प्रधानमंत्री ने पार्टी को बनाने में श्यामा प्रसाद मुखर्जी, दीन दयाल उपाध्याय, लालकृष्ण आडवाणी और सुंदर सिंह भंडारी के योगदान को भी याद किया और कहा कि इन लोगों की कार्यशैली और सीख की बदौलत पार्टी में लोकतंत्र की जड़ें गहरी व मजबूत हुईं।

मोदी ने कहा कि भाजपा को लोगों की सेवा करने का अवसर मिला और लोकतंत्र पर इन नेताओं से मिली सीख ‘सबका साथ, सबका विकास’ जैसे मूल्यों के साथ सरकार चलाने में उनकी मदद कर रही है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत में राजनीतिक दल का गठन मुश्किल काम नहीं है और लोकतांत्रिक व्यवस्था की सुंदरता बहु-दलीय प्रणाली में निहित है।

उन्होंने कहा कि भारत में कई दल हैं, जिनका अपना नजरिया, विचारधारा और कार्यशैली है। यह तथ्य कि देश में कई दल हैं, भारत में लोकतंत्र की सुंदरता दर्शाती है।

भाजपा के सफर को याद करते हुए, जिसकी शुरुआत जनसंघ से हुई थी, मोदी ने कहा कि पार्टी अपने कार्यकर्ताओं की वजह से इस मुकाम पर पहुंच सकी है। कार्यकर्ताओं की पीढ़ियों ने पार्टी को अपना जीवन दिया है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी पार्टी ‘राष्ट्र भक्ति’ के प्रति बचनबद्ध है। भाजपा के नए मुख्यालय के बारे में प्रधानमंत्री ने पार्टी कार्यकर्ताओं से आग्रह किया कि वे यह कहने में गर्व महसूस करें कि ‘यह मेरा कार्यालय है’ क्योंकि कार्यकर्ता मुख्यालय की आत्मा हैं।

उन्होंने कहा कि यह निजी राजनीतिक महत्वाकांक्षाओं का स्थान नहीं है, बल्कि करोड़ों लोगों की आकांक्षाएं पूरी करने का एक पवित्र स्थान है।

सभी आधुनिक सुविधाओं से युक्त मुख्यालय का निर्माण डेढ़ साल में पूरा हुआ है। इसकी नींव 18 अगस्त, 2016 को मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने रखी थी।