इकाना स्टेडियम में बाल बाल बचे सुनील गावस्कर और संजय मांजरेकर

Sunil Gavaskar, Sanjay Manjrekar escape serious accident at Lucknow's Ekana Stadium
Sunil Gavaskar, Sanjay Manjrekar escape serious accident at Lucknow’s Ekana Stadium

लखनऊ। पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर और संजय मांजरेकर मंगलवार को नवनिर्मित भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी इकाना स्टेडियम के कुप्रशासन का गवाह बने जब नए नवेले स्टेडियम में शीशे का एक दरवाजा उनके सामने भरभरा कर गिर गया। इस हादसे में हालांकि दोनो पूर्व खिलाडी बाल बाल बच गए।

दरअसल भारत और वेस्टइंडीज के बीच दूसरे टी 20 मैच में कमेंटेटर की भूमिका का निर्वहन करने दोनों खिलाडी यहां आए थे। वे कमेंटरी बाक्स में प्रवेश कर ही रहे थे कि इस बीच शीशे का एक दरवाजा ठीक उनके सामने भरभरा कर ढह गया। इस दुर्घटना में हालांकि दोनो खिलाडियों काे कोई नुकसान नही पहुंचा।

मांजरेकर ने हालांकि बाद में कहा कि शीशे का एक दरवाजा ताश के पत्तों की तरह हमारे सामने ढह गया। शुक्र है कि हमे चोट नहीं लगी। करीब ढाई दशक के लंबे अंतराल के बाद नवाब नगरी को किसी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैच की मेजबानी का मौका मिला है। मैच से पहले ही अपनी खूबसूरती के कारण सुर्खियां बटोरने वाले इस मैदान को स्टेडियम प्रशासन ने कई बार बट्टा लगाया है जिनमे से एक हादसा यह भी था।

महान खिलाडियों समेत मीडिया के अन्य कर्मी भी अनुभवहीन स्टेडियम प्रशासन की लापरवाही का शिकार हो सकते थे। मीडिया बाक्स में इंटरनेट और बिजली समेत तमाम खामियों ने मैदान के भविष्य पर सवालिया निशान लगाए। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को ही इस मैदान का नाम परिवर्तन कर इसे भारत रत्न और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को समर्पित किया था।