राजनीति में नहीं आएंगे टाॅलीवुड के सुपरस्टार रजनीकांत

चेन्नई। बॉलीवुड और टाॅलीवुड के दिग्गज कलाकार रजनीकांत राजनीति में प्रवेश नहीं करेंगे और अपनी राजनीतिक पार्टी भी नहीं बनाएंगे।

रजनीकांत ने मंगलवार को एक बयान जारी करके कहा कि कोरोना महामारी को देखते हुए उन्होंने यह फैसला किया है। सिने अभिनेता के इस कदम के बारे में हालांकि उनके स्वास्थ्य को देखते हुए राजनीतिक गलियारे में कुछ ऐसा कयास लगाया भी जा रहा था।

उन्होंने कहा कि मैं अफसोस के साथ सूचित कर रहा हूं कि राजनीति में प्रवेश करने और राजनीतिक पार्टी का (आगामी चार-पांच माह में होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले) गठन करने में मैं असमर्थ हूं।

उन्होंने राजनीति में कदम नहीं रखने के अपने फैसले से निराश हाेने वाले सैकड़ों प्रशंसकों और लोगों से माफी मांगते हुए कहा कि यह निर्णय लेते समय वह जिस दर्द का अनुभव कर रहे हैं उसे केवल वह ही महसूस कर सकते हैं।

रजनीकांत ने कहा कि उनकी स्वास्थ्य स्थिति को देखते हुए शूटिंग रोक दी गई। कई कलाकार रोजगार खो देंगे। उन्होंने कहा कि वह अपने इस कदम को ईश्वर की चेतावनी के रुप में देख रहे हैं।

उन्होंने 120 सिने कलाकारों के कोरोना से संक्रमित होने का जिक्र करते हुए कहा कि अगर वह कोरोना महामारी के समय राजनीतिक पार्टी का गठन करते हैं और प्रचार के लिए लाखों लोगों से मिलते हैं तो कोरोना के नए स्ट्रेन के फैलने के खतरे के बीच उनके इस कदम का क्या नतीजा होगा।

उन्होंने कहा कि अगर कोरोना के खिलाफ टीका आ भी जाता है तब भी उन्हें इसका खतरा है क्योंकि उन्हें इम्युनो सप्रेसेंट दवाएं दी जा चुकी हैं। अभिनेता ने कहा कि इस महामारी के वक्त चुनाव प्रचार करते समय और लोगों से मिलने के दौरान अगर मैं अस्वस्थ हो जाता हूं तो राजनीति के डगर पर मेरे संपर्क में आने वाले लोगों को मानसिक और आर्थिक रुप से बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

उन्होंने कहा कि एक राजनीतिक पार्टी का गठित कर सोशल मीडिया पर प्रचार करके लोगों के बीच जागरुकता नहीं फैला सकते, इसलिए उन्होंने राजनीति में कदम रखने और एक नई पार्टी बनाने की अपनी योजना स्थगित कर दी है। रजनीकांत ने हालांकि कहा कि वह बिना राजनीति में जाए लोगों की हरसंभव सेवा करना जारी रखेंगे।