सुप्रीम कोर्ट में निर्धारित समय से एक सप्ताह पहले ग्रीष्मावकाश की घोषणा

नई दिल्ली। कोरोना महामारी की दूसरी लहर के मद्देनजर उच्चतम न्यायालय ने अपने निर्धारित समय से एक सप्ताह पहले ही ग्रीष्मावकाश की घोषणा कर दी है।

न्यायालय की ओर से शनिवार को जारी सर्कुलर के अनुसार उच्चतम न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश एनवी रमन ने शीर्ष अदालत में गर्मी की छुट्टी 10 मई से ही शुरू किए जाने की घोषणा की है। सर्कुलर के अनुसार गर्मी के बाद न्यायालय में पूर्व के निर्धारित समय से पहले ही (28 जून से) कामकाज शुरू हो जाएगा।

अतिरिक्त रजिस्ट्रार महेश टी पाटनकर की ओर से जारी सर्कुलर में बताया गया है कि इस साल 13 नवम्बर को शनिवार होने के बावजूद अदालती कामकाज होगा। शीर्ष अदालत में शनिवार और रविवार को सप्ताहांत की छुट्टी होती है।

गौरतलब है कि भारतीय विधिज्ञ परिषद, सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन और सुप्रीम कोर्ट एडवोकेट ऑन रिकॉर्ड एसोसिएशन (एससीएओआरए) के प्रतिनिधियों ने न्यायमूर्ति रमना से मुलाकात की थी और उनसे कोरोना के मद्देनजर गर्मी की छुट्टी निर्धारित समय से पहले शुरू करने का अनुरोध किया था।