अजमेर व पुष्कर घाटी के बीच सुंरग निर्माण हेतु सर्वे शुरू

Survey starts for Ajmer and Pushkar tunnel project
Survey starts for Ajmer and Pushkar tunnel project

अजमेर। स्मार्ट सिटी अजमेर और तीर्थ नगरी पुष्कर के मध्य सुरंग निर्माण के लिए सर्वे कार्य शुरू हो गया है। बीच में आने वाली पहाडी को भेदकर टनल बनाया जाना प्रस्तावित है।

अजमेर नगर विकास प्राधिकरण के अघ्यक्ष शिव शंकर हेडा ने आज अधिकारियों के साथ सुरंग बनाने के काम का सर्वे करने वाली गुड़गांव की कंपनी वेबकॉस लिमिटेड के तकनीकी दल के साथ घाटी का निरीक्षण करके उन पाइंटों पर चर्चा की जहां से सुरंग निकाली जानी ज्यादा उपयुक्त रहेगी।

कंपनी के तकनीकी अधिकारियों ने तीन बिंदुओं का निरीक्षण कराया लेकिन सर्वे का फैसला अजमेर रोड से पुष्कर की ओर पहले से ही बने हुए पैदल यात्री मार्ग को सबसे उपयुक्त समझा गया। यहां सुरंग करीब 500 मीटर (आधा किलोमीटर)लंबी तैयार की जा सकेगी।

एक सुरंग मार्ग हरिभाउ विस्तार योजना स्थित प्राइवेट बस स्टैंड से पुष्कर फीडर कपिल कुंड का भी विकल्प रखा गया है जो कि करीब 1500 मीटर लंबा बनता है जिसकी लागत भी ज्यादा आने की संभावनाएं है।

प्राधिकरण आयुक्त नामित मेहता ने कंपनी के तकनीकी अधिकारियों से कहा कि टनल निकालने का मकसद केवल घाटी की समस्या को दूर कर सुगम यातायात बनाना है इसलिए उन्होंने पैदल मार्ग वाले हिस्से पर ही सुरंग बनाने के लिए अपनी सहमति दी।

प्राधिकरण अध्यक्ष शिवशंकर हेडा ने पत्रकारों से कहा कि इसके लिये मुख्यमंत्री ने बजट में 55 करोड़ रुपए का प्रावधान किया है। उन्होंने कहा कि कंपनी ने पैदल मार्ग वाले विकल्प को ही फिलहाल स्वीकार किया है और अब सर्वे रिपोर्ट के आधार पर टेंडर जारी किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि कंपनी से दो महीने के अंदर सर्वे रिपोर्ट पेश करने के लिए कहा गया है।