निलंबित IAS पूजा सिंघल की न्यायिक हिरासत अवधि 14 दिन बढ़ी

रांची। झारखंड में निलंबित आईएएस पूजा सिंघल की न्यायिक हिरासत 14 दिनों के लिए बढ़ा दी गई है।

पूजा सिंघल की न्यायिक हिरासत की अवधि समाप्त होने पर आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से ईडी की विशेष कोर्ट में पेश किया गया। स्पेशल कोर्ट ने पूजा सिंघल की न्यायिक हिरासत अवधि 5 जुलाई के लिए बढ़ा दी। अदालत ने इस मामले में गिरफ्तार सीए सुमन कुमार की न्यायिक हिरासत की अवधि 14 दिनों के लिए बढ़ा दी है।

मनी लाउंड्रिंग से जुड़े मामले में विगत 11 मई को पूजा सिंघल को गिरफ्तार किया गया था और 14 दिनों तक ईडी ने रिमांड पर लेकर उनसे पूछताछ की थी। जिसके बाद उन्हें न्यायिक हिरासत में बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा भेज दिया गया है।

इससे पहले भी 8 जून को उन्हें वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से ही ईडी की कोर्ट में पेश किया गया था और आज दूसरी बार उन्हें वर्चुअल माध्यम से जेल से ही ईडी कोर्ट में पेश किया गया और अदालत ने न्यायिक हिरासत की अवधि को बढ़ा दिया है।

इस मामले में गिरफ्तार पूजा सिंघल के करीबी सीए सुमन कुमार की भी न्यायिक हिरासत की अवधि 14 दिनों के लिए बढ़ा दी गई है। ईडी की टीम ने सुमन कुमार को भी 13 दिनों के लिए रिमांड पर पूछताछ की थी।

इधर, ईडी की ओर से आईएएस पूजा सिंघल के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल करने की तैयारी में जुटी है। बताया गया है कि अगले कुछ दिनों में ईडी की ओर से पूजा सिंघल के अदालत स्पेशल कोर्ट में आरोप पत्र दाखिल कर दिया जाएगा।

ईडी को पूजा सिंघल और उनके करीबियों के विभिन्न ठिकानों पर की गयी छापेमारी और कई लोगों से पूछताछ के बाद प्रवर्त्तन निदेशालय को पूजा सिंघल के विरूद्ध कई साक्ष्य मिले हैं, उसी के आधार पर अब आरोप पत्र दाखिल करने की तैयारी की जा रही है।

बताया गया है कि ईडी की टीम यदि निर्धारित अवधि के भीतर अदालत में आरोप दाखिल करने में सफल नहीं होती है, तो पूजा सिंघल को जमानत सकती है।