अजमेर : स्वदेशी जागरण मंच ने पीएम मोदी को चेताया, कश्मीर में न हो चीन का निवेश

अजमेर। जम्मू कश्मीर में होने वाले किसी भी निवेश में चाइनीस कंपनियों को शामिल न किए जाने की मांग को लेकर स्वदेशी जागरण मंच अजयमेरु के तत्वावधान में कलेक्टर के जरिए प्रधानमंत्री के नाम सोमवार को ज्ञापन सौंपा जाएगा।

अपराहन 3:15 बजे स्वदेशी जागरण मंच के कार्यकर्ता और समर्थक कलेक्ट्री के मुख्य गेट के बाहर एकत्र होंगे। संगठन के महानगर संयोजक डॉक्टर संत कुमार ने बताया कि जम्मू कश्मीर राज्य में धारा 370 और 35ए को हटाने के बाद कश्मीर के विकास के लिए केन्द्र सरकार योजनाएं तैयार कर रही है। इन योजनाओं में भारत सरकार की ओर से बहुत बड़ा निवेश किया जाना है।

स्वदेशी जागरण मंच प्रधानमंत्री से आग्रह करता है कि कश्मीर में होने वाले किसी भी निवेश में चाइनीस कंपनियों को शामिल न किया जाए, क्योंकि पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय मंच पर चाइना ने ही धारा 370 और 35ए के मामले में सहयोग और समर्थन दिया है।

स्वदेशी जागरण मंच चीन की इस करतूत का पुरजोर विरोध करता है। स्वदेशी जागरण मंच की मांग है कि कश्मीर के अंदर जो भी विकास योजनाएं प्रस्तावित हों उनमें किसी भी चाइनीस कंपनी को निवेश करने का मौका नहीं दिया जाए।

जम्मू कश्मीर में केवल भारतीय कंपनियों को ही विकास में भागीदारी बनाया जाए। स्वदेशी जागरण मंच देश भर में प्रधानमंत्री को कलेक्टर के माध्यम से ज्ञापन प्रस्तुत कर रहा है। उसी कड़ी के तहत अजमेर में भी शांतिपूर्ण तरीके से यह ज्ञापन दिया जाएगा।