ICC T20 विश्व कप : पाकिस्तान ने भारत को 10 विकेट से पीटा

दुबई। पाकिस्तान ने अपने सलामी बल्लेबाजों कप्तान बाबर आजम (नाबाद 68) और मोहम्मद रिजवान (नाबाद 79) के शानदार अर्धशतकों तथा उनके बीच 152 रन की रिकॉर्ड ओपनिंग साझेदारी की मदद से भारत को आईसीसी टी 20 विश्व कप में रविवार को एकतरफा अंदाज में 10 विकेट से हराकर भारत के खिलाफ विश्व कप में पांच मैच लगातार हारने के गतिरोध को तोड़ दिया।

भारत ने कप्तान विराट कोहली की 49 गेंदों पर पांच चौकों और एक छक्के से सजी 57 रन की जबरदस्त पारी से 20 ओवर में सात विकेट पर 151 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया लेकिन पाकिस्तान ने 17.5 ओवर में बिना कोई विकेट खोये 152 रन बनाकर आसान जीत हासिल की।

भारत ने इससे पहले पाकिस्तान के खिलाफ टी 20 विश्व कप में अपने सभी पांच मुकाबले जीते थे लेकिन भारतीय गेंदबाज इस मुकाबले में एक भी पाकिस्तानी विकेट नहीं चटका पाए। जिस मैच को महामुकाबले की संज्ञा दी जा रही थी वह पूरी तरह एकतरफा साबित हुआ।

टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करने उतरे भारत की शुरुआत खराब रही। पहले ओवर की चौथी गेंद पर रोहित शर्मा को बाएं हाथ के तेज गेंदबाज शाहीन आफरीदी ने पगबाधा कर दिया। आफरीदी ने अपने दूसरे और पारी के तीसरे ओवर की पहली बेहतरीन गेंद पर लोकेश राहुल को बोल्ड कर दिया। राहुल आठ गेंदों में तीन रन बनाकर आफरीदी की बेहतरीन इनस्विंगर पर बोल्ड हुए।

क्रीज पर कप्तान विराट कोहली का साथ देने उतरे सूर्यकुमार यादव ने आठ गेंदों पर एक चौके और एक छक्के की मदद से 11 रन बनाये और हसन अली की गेंद पर विकेटकीपर मोहम्मद रिजवान के हाथों लपके गए। भारत ने अपना तीसरा विकेट 31 के स्कोर पर गंवाया। लेकिन इसके बाद विराट और विकेटकीपर ऋषभ पंत ने चौथे विकेट के लिए 53 रन की महत्वपूर्ण साझेदारी की।

10 ओवर के बाद भारत का स्कोर तीन विकेट पर 60 रन था। पंत ने हसन अली के पारी के 12वें ओवर में दो छक्के लगाए। पंत स्पिनर शादाब खान की गेंद पर बड़ा शॉट खेलने की कोशिश में गेंद को ऊंचा खेल गए और गेंदबाज शादाब ने अपनी ही गेंद पर कैच लपककर पंत की पारी का अंत कर दिया। पंत ने 30 गेंदों पर 39 रन में दो चौके और दो छक्के लगाए। भारत का चौथा विकेट 84 के स्कोर पर गिरा।

मैदान पर अब रवींद्र जडेजा उतरे। विराट ने पारी के 16वें ओवर में हसन अली की गेंदों पर दो चौके लगाए। विराट ने 18वें ओवर की पहली गेंद पर दो रन लेकर टी -20 विश्व कप में अपना 10वां अर्धशतक पूरा किया और विश्व कप में वेस्ट इंडीज के क्रिस गेल को पीछे छोड़कर सर्वाधिक फिफ्टी बनाने वाले बल्लेबाज बन गए। विराट ने अगली गेंद पर चौका मारा जबकि जडेजा ने चौथी गेंद पर चौका लगाया लेकिन अगली गेंद पर स्थानापन्न खिलाड़ी मोहम्मद नवाज के हाथों लपके गए। जडेजा ने 13 गेंदों पर 13 रन में एक चौका लगाया।

जडेजा का विकेट 125 के स्कोर पर गिरा। इसके 11 रन बाद विराट को आफरीदी की गेंद पर रिजवान ने लपक लिया। हार्दिक पांड्या आठ गेंदों पर 11 रन बनाकर आखिरी ओवर की तीसरी गेंद पर आउट हुए। भारत की पारी 151 रन पर थमी। भुवनेश्वर चार गेंदों पांच रन बनाकर नाबाद रहे।

पाकिस्तान की तरफ से आफरीदी ने 31 रन पर तीन विकेट, हसन अली ने 44 रन पर दो विकेट, शादाब ने 22 रन पर एक विकेट और हारिस राउफ ने 25 रन पर एक विकेट लिया।

आफरीदी को उनकी शानदार गेंदबाजी के लिए प्लेयर ऑफ द मैच का पुरस्कार मिला।
लक्ष्य का पीछा करते हुए आजम और रिजवान के बीच की साझेदारी पाकिस्तान की भारत के खिलाफ सबसे बड़ी साझेदारी रही। यह भारत के खिलाफ किसी भी टीम की सबसे बड़ी साझेदारी थी। आजम और रिजवान ने सभी भारतीय गेंदबाजों को बखूबी खेला। दोनों बल्लेबाज भारत के तेज और स्पिन दोनों गेंदबाजों पर हावी रहे।

भारत के लिए इस मुकाबले में जिस मौके की बात की जा रही थी वह मैच के दौरान कहीं भी नहीं दिखा। वरुण चक्रवर्ती को गेम चेंजिंग गेंदबाज के रूप में पेश किया गया लेकिन वह भी कोई ख़ास असर नहीं छोड़ पाए। आजम ने 52 गेंदों पर नाबाद 68 रन में छह चौके और दो छक्के लगाए जबकि रिजवान ने 55 गेंदों पर नाबाद 79 रन में छह चौके और तीन छक्के लगाए।

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने जीत का श्रेय पाकिस्तानी टीम को देते हुए कहा कि पाकिस्तानी टीम ने उन्हें खेल के हर विभाग में पछाड़ दिया जबकि पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम ने इस जीत का श्रेय पूरी तरह टीम प्रयास को दिया। भारत को अपने टी 20 इतिहास में पहली बार 10 विकेट से हार का सामना करना पड़ा।