काबुल से अमरीकी सैनिकों की वापसी एक दिन पहले पूरी

वाशिंगटन/काबुल। तालिबान ने अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की वापसी पूरी होने का स्वागत किया है। तालिबान के एक प्रवक्ता ने मंगलवार सुबह यह जानकारी दी। अमरीका ने घोषणा की है कि अफगानिस्तान से उसके सैनिकों की वापसी पूरी हो गई है।

तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद ने ट्विटर पर लिखा कि अफगानिस्तान में अमरीकी सैनिकों का अंतिम समूह सोमवार की आधी रात को काबुल हवाई अड्डे से रवाना हो गया।
उन्होंने कहा कि इस तरह हमारा देश पूरी तरह आजाद हो गया है।

अफगानिस्तान में अभी भी कुछ अमरीकी रह गए हैं : ब्लिंकन

अफगानिस्तान में अमेरिका की अपने कर्मचारियों और नागरिकों की निकासी पूरी करने के बावजूद 100 से 200 के बीच की संख्या में अमरीकी रह गए हैं, जो जल्द से जल्द इस युद्धग्रस्त देश से निकलना चाहते हैं। अमरीकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान यह जानकारी दी।

ब्लिंकन ने कहा कि कुछ अमरीकी अफगानिस्तान में अभी भी हैं, जो इस देश को छोड़ना चाहते हैं। इनकी संख्या 100 से 200 के बीच है। हम इनकी वास्तविक संख्या जानने का प्रयास कर रहे हैं।

अमरीकी राष्ट्रपति ने घोषणा की थी कि मंगलवार (31 अगस्त) तक अफगानिस्तान से अमरीकी सैनिकों की वापसी पूरी हाे जाएगी। इस निर्धारित समय सीमा के एक दिन पहले सोमवार रात को अफगानिस्तान से अमरीकी सैनिकों और गैर-सैन्य कर्मियों के अंतिम समूह को लेकर अमरीकी विमान काबुल हवाई अड्डे से रवाना हुआ।

राजनयिक कार्यों का संचालन दोहा से करेगा अमरीका

अमरीका अफगानिस्तान से अपने सैन्य बलों और कर्मचारियों की निकासी पूरी करने के बाद इस देश के लिए अपने राजनयिक कार्यों का संचालन कतर की राजधानी दोहा से करेगा। अमरीकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने सोमवार का एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान यह जानकारी दी।

ब्लिंकन ने कहा कि हमने काबुल में अपनी राजनयिक उपस्थिति को निलंबित कर दिया है और इसे कतर के दोहा में स्थानांतरित कर दिया है। इस संबंध में जल्द ही कांग्रेस को सूचित किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि हम दोहा से अफगानिस्तान के लिए दूतावास संबंधी मामलों, मानवीय सहायता संबंधी कार्यों का संचालन करेंगे, तालिबान के साथ संपर्क करने और उसे संदेश देने को लेकर समन्वय के लिए सहयोगियों, भागीदारों, क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय हितधारकों के साथ काम करेंगे।