जैसलमेर में तालिबान क्लब क्रिकेट टीम के मामले में बढ़ा विवाद

जैसलमेर। राजस्थान में भारत-पाकिस्तान की अंतरराष्ट्रीय सीमा पर स्थित जैसलमेर जिले के जेसुराना में सोमवार को एक क्रिकेट मैच के आयोजन के दौरान एक तालिबान के नाम से क्रिकेट टीम के सामने आने से उत्पन्न विवाद बढ़ता जा रहा है।

मंगलवार को इस विवाद में स्थानीय हिंदूवादी संगठन सक्रिय हो गए। बड़ी संख्या में इन संगठनों ने विरोध प्रदर्शन करते कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन दिया जिसमें सीमावर्ती इलाकों में पनप रहे तालिबानियों एवं ऐसी सोच रखने वाले दोषी व्यक्तियों पर कार्रवाई की मांग की गई है।

सीमावर्ती जिले जैसलमेर में अलादीन खां स्मृति क्रिकेट ट्रॉफी शुरू होने के साथ ही विवादों में घिर गई। इसमें शामिल एक टीम का नाम तालिबान क्लब था। इतना ही नहीं आयोजकों ने इस तालिबान क्लब का एक मैच तक करा दिया और वह टीम जीत भी गई। अपने पेज पर उन्होंने स्कोर भी शो कर दिया। इसके बाद हंगामा होना तय था।

सोशल मीडिया पर अचानक आयोजक ट्रोल होने लगे। कई संगठन इसका जमकर विरोध कर रहे हैं। हालांकि किरकिरी होती देख आयोजकों ने उक्त टीम को बाहर का रास्ता दिखा दिया साथ ही माफी भी मांगी, लेकिन जैसलमेर जिले में इस तरह की घटना घटित होने से कई संगठन इसका विरोध कर रहे हैं।

बजरंग दल के विभाग संयोजक लालू सिंह सोढ़ा ने बताया कि जैसे ही हमारे संज्ञान में आया हमारे कार्यकर्ताओं ने इस मामले को लेकर कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन देकर विरोध जताया।

विश्व हिंदू परिषद ने कहा है कि इस प्रकार की हरकतों से जैसलमेर जिले के शांत वातावरण को असामाजिक तत्वों द्वारा बिगाड़ने का प्रयास किया जा रहा है। तालिबान क्लब के सभी सदस्यों से, प्रतियोगिता आयोजन करने वाली समिति तथा उनके मार्गदर्शकों से सख्ती से पूछताछ करके उनके विरुद्ध कानून के अनुसार शीघ्रातिशीघ्र कठोर कार्रवाई की जानी चाहिए।