तालिबानी क्रूरता : अपहरण के 4 आरोपियों के शव चौराहों पर लटकाए

काबुल। अफगानिस्तान में बेहतर और समावेशी शासन देने के तालिबान के कथित दावों के बीच उसकी हरकतों से आतंकवादी संगठन का असली चेहरा सामने आने लगा है और इसी कड़ी में उसने स्थानीय लोगों को चेतावनी देने के लिए अपहरण के चार आरोपियों के शवों को पश्चिमी शहर हेरात के चौराहों पर सार्वजनिक रूप से लटका दिया।

एक कुख्यात तालिबान अधिकारी द्वारा फांसी और अंग भंग करने जैसी सजाएं फिर शुरू किए जाने की चेतावनी के एक दिन बाद संगठन ने इस पर अमल भी कर दिखाया। चारों आरोपियों के शवों को बड़ी क्रूरता से क्रेन के माध्यम से चौराहों पर लटका दिया गया।

एक स्थानीय अधिकारी ने बताया कि ये लोग एक व्यापारी और उसके बेटे का कथित तौर पर अपहरण करने के बाद हुई मुठभेड़ में मारे गए। स्थानीय मीडिया ने हेरात के डिप्टी गवर्नर मौलवी शायर अहमद इमर के हवाले से कहा कि तालिबान लड़ाकों ने कथित अपहरणकर्ताओं को ढूंढ निकाला और सभी को मार गिराया।

अधिकारी ने कहा कि हमने अन्य अपहरणकर्ताओं को चेतावनी देने के लिए उनके शवों को हेरात के चौराहों पर लटका दिया। गौरतलब है कि 15 अगस्त को अफगानिस्तान में सत्ता संभालने के बाद से तालिबान अपने पिछले कार्यकाल की तुलना में नरम शासन का वादा करता रहा है लेकिन देश भर से मानवाधिकारों के हनन की कई खबरें पहले ही सामने आ चुकी हैं।