पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई व अब्दुल्ला काबुल में नजरबंद

काबुल। रूस में प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन तालिबान ने सुरक्षा टीमों को हटाने के बाद अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई, उच्च परिषद राष्ट्रीय सुलह प्रमुख अब्दुल्ला अब्दुल्ला काबुल में नजरबंद किया है।

सीएनएन ने सूत्रों के हवाले से यह जानकारी दी है। सूत्रों ने कहा कि तालिबान ने इन नेताओं की कारों को भी जब्त कर लिया है। सीएनएन के मुताबिक बुधवार को तालिबान ने श्री अब्दुल्ला के घर की तलाशी ली।

टोलो न्यूज के पत्रकार, कैमरामेन की पिटाई

अफगानिस्तान में टोलो न्यूज के एक पत्रकार और कैमरामेन की तालिबान द्वारा पिटाई किये जाने का मामला सामने आया है। टोलो न्यूज ने अपनी रिपोर्ट में यह जानकारी दी।

रिपोर्ट के मुताबिक घटना बुधवार को उस समय हुई जब पत्रकार जियार याद और उसके कैमरामेन काबुल में बेराेजगारी दर में वृद्धि को लेकर शह्र-ए-नव इलाके में बेराजगार लोगों और मजदूरों पर कवरेज कर रहे थे। इसी दौरान तालिबान ने उन दोनों की पिटाई कर दी।

जियार ने कहा कि रिपोर्टिंग के दौरान तालिबान ने पिटाई की। कैमरे, तकनीकी उपकरण और निजी मोबाइल फोन को भी लूट लिया गया। मुझे अभी भी नहीं पता कि उन्होंने ऐसा व्यवहार क्यों किया और अचानक हम पर हमला कर दिया।

उन्होंने तालिबान के इस कृत्य को अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए गंभीर खतरा बताया और कहा कि इस मामले को तालिबानी नेताओं के समक्ष उठाया गया है, हालांकि अपराधियों को अभी तक गिरफ्तार नहीं किया गया है। इस बीच विभिन्न पत्रकार संगठनों ने इस घटना की निंदा की है।