तमिलनाडु : मुस्लिम प्रेमी संग भागने के बाद नाबालिग लड़की ने की आत्महत्या

Verified Apps to watch T20 World Cup 2022 Live Stream

मदुरै। तमिलनाडु के मदुरै जिले में मेलूर तालुक के थुम्बईपट्टी गांव में रविवार को एक 17 साल की हिंदू लड़की ने कथित तौर पर आत्महत्या कर ली है, जो कुछ समय पहले मुस्लिम समुदाय के एक 26 वर्षीय लड़के के साथ भाग गई थी।

पुलिस ने कहा कि लड़की को एस. नागूर हनीफा नामक युवक से प्यार था और दोनों पिछले करीब छह महीने से एक-दूसरे के साथ रिश्ते में थे। गत 14 फरवरी के दिन हनीफा अपने दोस्तों की मदद से लड़की को अपने घर से भगाकर ले गया और दोनों ईरोड में लड़के के चाचा के घर जा पहुंचे। वहां से हनीफा लड़की को लेकर कहीं और फरार हो गया और दोनों साथ रहने लगे।

लड़की के माता-पिता ने 15 फरवरी को अपनी बेटी के लापता होने की शिकायत मेलूर थाने में दर्ज कराई थी। जब पुलिस ने लड़की के माता-पिता को बताया कि उन्हें इस पर गुमशुदगी का एक मामला दर्ज करना होगा, तो लड़की के घरवालों ने समाज में बदनामी होने के डर से पुलिस से प्राथमिकी नहीं दर्ज करने का अनुरोध किया। इसके बाद मेलूर पुलिस ने सामुदायिक सेवा रजिस्टर की रसीद जारी की।

इसी बीच धर्म से बाहर जाकर विवाह को लेकर हनीफा और उसकी मां मथिना बेगम के बीच झगड़ा हो गया और उसने लड़की को उसके घर भेज देने को कहा। अपनी मां के साथ झगड़े के बाद हनीफा और लड़की ने कथित तौर पर चूहे मारने वाले जहर का सेवन कर लिया।

हनीफा ने खाने के तुरंत बाद जहर उगल दिया, लेकिन लड़की तब तक उसका सेवन कर चुकी थी। इसके बाद हनीफा उसे इलाज के लिए एक निजी अस्पताल में ले गया और बाद में थुम्बईपट्टी गांव लौट आया और तीन मार्च को लड़की को उसके घरवालों के हवाले कर दिया। इस बीच, लड़की की सेहत काफी ज्यादा बिगड़ने लगी, तो उसे जीआरएच में भर्ती कराया गया। वहां आज दोपहर उसकी मौत हो गई।

इस मामले को लेकर थुम्बईपट्टी गांव में तनाव का माहौल है। लड़की के सभी परिजन इकट्ठा होकर हनीफा और उसके दोस्तों पर लड़की के साथ यौन उत्पीड़न किए जाने का आरोप लगाया है। इसके मद्देनजर तिरुचिरापल्ली-मदुरै राष्ट्रीय राजमार्ग पर बड़ी संख्या में मृतक के रिश्तेदारों और दोस्तों ने रोड-रोको आंदोलन किया। बाद में पुलिस ने बीच बचाव कर सामान्य स्थिति बहाल की।

इस बीच, मदुरै के पुलिस अधीक्षक वी भास्करन ने संवाददाताओं को बताया कि मेडिकल रिपोर्ट के अनुसार, लड़की को किसी तरह का यौन उत्पीड़न नहीं किया गया है और उसके शरीर पर कोई चोट के निशान नहीं हैं।

उन्होंने कहा कि हनीफा और मथिना बेगम सहित आठ लोगों को आईपीसी की विभिन्न धाराओं और पोक्सो अधिनियम के प्रावधानों के तहत गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि मामले में दो और आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए तलाश की जा रही है।