गाजीपुर में पहली कक्षा की छात्रा के साथ शिक्षक ने किया दुराचार

Teacher detained for sexual assault of minor girl in Ghazipur
Teacher detained for sexual assault of minor girl in Ghazipur

गाजीपुर। उत्तर प्रदेश में गाजीपुर के बाराचवर क्षेत्र में एक शिक्षक द्वारा मासूम छात्रा के साथ दुराचार के प्रयास का मामला प्रकाश में आया है।

पुलिस के अनुसार मामला केरारी(भीषण अहमट) का है। पुलिस ने अारोपी शिक्षक प्रमोद शंकर यादव को गिरफ्तार कर लिया है। वह केरारी में सरकारी प्राथमिक विद्यालय में प्रधानाध्यापक है।

आरोप है कि उसने क्लास रूम में कक्षा एक की मासूम छात्रा को अकेले पाकर उसके साथ दुष्कर्म की कोशिश की। उसने जबरन उसका अंतःवस्त्र उतारा। उसके चंगुल में फंसने के बाद छात्रा डर गई और रोने लगी तब वह उसे क्लास रूम में अकेले छोड़ कर निकल गया।

छात्रा की मां के मुताबिक घटना गत चार अप्रेल की है। छात्रा स्कूल से लौटने के बाद मां को जानकारी दी लेकिन संयोग से घर में कोई बड़ा जिम्मेदार सदस्य नहीं था। लिहाजा मां चुप्पी साध ली लेकिन आज जब उसके सास-ससुर इलाहाबाद से घर लौटे तब उसने अपनी बेटी के साथ हुए वाकये की जानकारी दी। पीड़िता सहित सभी स्कूल पहुंचे और प्रधानाध्यापक से घटना के बाबत पूछताछ करने लगे।

अपनी गलती स्वीकार करने के बजाय प्रधानाध्यापक उल्टे उन्हीं पर बरस पड़ा और गालियां देते हुए जान से मारने तक की धमकी देने लगा। यहां तक कहा कि वह जहां चाहे शिकायत करें। उसका कोई कुछ नहीं बिगाड़ेगा। इसी बीच यूपी-100 को सूचना दी गई। उसके बाद एसओ बरेसर रामविराज सिंह मय फोर्स मौके पर पहुंचे और प्रधानाध्यापक को हिरासत में लेकर थाना ले आए।

इस मामले में सीओ कासिमाबाद कृष्णकांत सरोज ने बताया कि उन्होंने खुद छात्रा से बरेसर थाने में घटना के बाबत बात की। बच्ची ने कहा कि उसके साथ प्रधानाध्यापक ने गलत हरकत की।

सहायक बेसिक शिक्षा अधिकारी बाराचवर अखिलेश झा ने कहा कि मामला उनके संज्ञान में है। पुलिस अपनी कार्रवाई कर रही है। विभाग से जैसा निर्देश मिलेगा वह उसके तहत प्रधानाध्यापक के खिलाफ कार्रवाई करेंगे। आरोपी प्रधानाध्यापक पड़ोसी जिला बलिया के चिलकहर क्षेत्र के हरिहरपुर गांव का रहने वाला है।