डिप्रेशन का शिकार हुआ यह भारतीय युवा बल्लेबाज, एक गलती से बर्बाद हो रहा है करियर

team india batsman prithvi shaw in depression
team india batsman prithvi shaw in depression

स्पोर्ट्स डेस्क : भारतीय टीम के युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) की बैन के बाद हालत दिन-ब-दिन खराब होती जा रही है। कुछ दिन पहले बीसीसीआइ (BCCI) ने उनपर आठ महीने का बैन (Ban) लगाया था। 19 साल के पृथ्वी शॉ ने अनजाने में एंटी अस्थाम ड्रग्स ले ली थी, जिसकी वजह से उनकर प्रतिबंध लगा है। वहीं प्रतिबंध के बाद पृथ्वी शॉ डिप्रेशन का शिकार हो चुके है। इसलिए वह भारत छोड़कर इंग्लैंड चले गए हैं।

रिपोर्ट्स की मानें तो शॉ बैन के खत्म होने तक पृथ्वी शॉ वहीं रहेंगे। उनका बैन 15 नवंबर को खत्म होगा। हालांकि, वह 15 सितम्बर से अभ्यास कर सकते हैं। इस बीच बीसीसीआई ने बुधवार को शॉ के डोपिंग मामले पूरी जानकारी दी है। पिछले साल फरवरी में हुए इस घटनाक्रम के बाद से इस साल जुलाई तक की सारी जानकारी इसमें दी गई हैं।

मुंबई के इस क्रिकेटर ने दावा किया कि उन्होंने कफ सीरप लिया था। उस समय उन्हें खांसी और सर्दी हुई थी। वहीं आपको जानकारी में बता दें, पृथ्वी शॉ ने भारतीय टीम के लिए दो टेस्ट मैच खेले हैं। इसमें उन्होंने एक शतक और एक अर्द्धशतक के साथ 237 रन बनाए। पृथ्वी ने अपने पहले टेस्ट मैच की पहली पारी में शतक लगाकर सभी को हैरान कर दिया था।