पूरी भारतीय टीम कोविड नेगेटिव, पांचवें टेस्ट से संकट का कोहरा छंटा

मैनचेस्टर। भारतीय टीम को इंग्लैंड के खिलाफ शुक्रवार से शुरू होने वाले पांचवें और अंतिम टेस्ट की पूर्वसंध्या पर एक और सपोर्ट स्टाफ के कोरोना से संक्रमित होने से गहरा झटका लगा है। लेकिन पूरी भारतीय टीम के टेस्ट परिणाम नेगेटिव आने से मैच पर छाये संकट के बादल छंट गए हैं। भारत पांच मैचों की सीरीज में चौथा मैच जीतने के बाद से 2-1 से आगे है।

भारतीय टीम के दूसरे फिजियो योगेश परमार के कोरोना से संक्रमित होने का परिणाम गुरूवार को पता चला जिसके बाद भारतीय टीम ने अपना प्रस्तावित ट्रैनिंग सत्र रद्द कर दिया। भारतीय टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री लीड्स में चौथे टेस्ट के दौरान पॉजिटिव पाए गए थे। तब शास्त्री के साथ साथ गेंदबाजी कोच भरत अरुण, फील्डिंग कोच आर श्रीधर और फिजियो नितिन पटेल को तत्काल प्रभाव से एहतियातन आइसोलेशन में डाल दिया गया था।

भारतीय खेमे में ताजा कोविड मामले ने दोनों देशों के बीच पांचवें और अंतिम टेस्ट का भाग्य अधर में लटका दिया था। दोनों देशों के क्रिकेट बोर्ड इस मुद्दे पर बातचीत में लगे हैं कि इस मैच के साथ आगे बढ़ा जाए या नहीं।

दोनों बोर्ड जहां बातचीत में लगे हैं वहीं समझा जाता है कि भारतीय खिलाड़ी ताजा टेस्टिंग से गुजरेंगे जिसका परिणाम ही टेस्ट के भाग्य का फैसला तय करेगा। यदि ज्यादा पॉजिटिव मामले आते हैं तो टेस्ट खतरे में रहेगा।

ज्यादा मामले पॉजिटिव आने से इंडियन प्रीमियर लीग का भाग्य भी खतरे में पड़ सकता है जिसे 19 सितम्बर से यूएई में शुरू होना है। दोनों देशों के अधिकतर खिलाड़ी 15 सितम्बर को टेस्ट मैच समाप्त होने के बाद से मैनचेस्टर से दुबई के लिए चार्टर्ड उड़ान पकड़ेंगे ताकि यूएई में अपनी अपनी सम्बंधित आईपीएल टीमों से जुड़ सकें।

रिकॉर्ड के हिसाब से भारतीय टीम के दूसरे फिजियो और मेडिकल टीम के सदस्य योगेश परमार कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं जिससे सभी सम्बंधित लोगों में भय और आशंका उत्पन्न हो गई है।

फिजियो और मेडिकल टीम का हिस्सा होने के नाते परमार को मैदान पर ज्यादा आना पड़ता है और यह तब जब मुख्य फिजियो नितिन पटेल को चौथे टेस्ट के दौरान शास्त्री के साथ आइसोलेट कर दिया गया था। पटेल को हालांकि क्लीन चिट मिल गयी है और वह टीम के साथ मैनचेस्टर गए है।

फैसले को लेकर दोनों बोर्ड़ों ने चुप्पी साध रखी है। समझा होता है कि परमार के पॉजिटिव आने के बाद भारतीय टीम का लेटरल फ्लो टेस्ट कराया गया है और सभी को क्लीन चिट मिल गई है लेकिन इस टेस्ट को आरटी-पीसीआर टेस्ट जितना विश्वसनीय नहीं माना जाता है और आरटी पीसीआर टेस्ट के परिणाम का अभी इन्तजार है।

अब पूरी भारतीय टीम का आरटी-पीसीआर टेस्ट के परिणाम मेगटिव आए हैं जिससे मैच पर छाया अनिश्चितता का कोहरा छंट सा गया है। इस बीच इंग्लैंड मैच के लिए होने की सम्भावना के मद्देनजर अपनी तैयारी कर रहा है।