तेजप्रताप यादव ने एक बार फिर साधा विरोधियों पर निशाना

पटना। राष्ट्रीय जनता दल अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के बड़े पुत्र एवं विधायक तेजप्रताप यादव ने लगातार बगावती तेवर अपनाते हुए एक बार फिर से अपने विरोधियों पर निशाना साधा है।

यादव ने अब जाने-माने कवि रामधारी सिंह दिनकर की प्रसिद्ध कविता ‘कृष्ण की चेतावनी’ के कुछ प्रसंगों को अपने फेसबुक पर शेयर कर अपने विरोधी पर कड़ा प्रहार किया है। इस फेसबुक पोस्ट में वह किसे दुर्योधन बता रहे हैं, इसकी तो उन्होंने चर्चा नहीं की है लेकिन उनके संकेत प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव की ओर लगते हैं।

इससे पहले भी विधायक यादव स्वयं को कृष्ण और अपने छोटे भाई प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव को अर्जुन बता चुके हैं। एक ट्वीट के माध्यम से उन्होंने यहां तक कह दिया था कि कोई लाख कोशिश कर ले लेकिन कृष्ण-अर्जुन की जोड़ी को कोई तोड़ नहीं सकता है।

उन्होंने दिनकर की कविता का उल्लेख करते हुए फेसबुक पोस्ट किया कि ‘मैत्री की राह बताने को सबको सुमार्ग पर लाने को, दुर्योधन को समझाने को, भीषण विध्वंस बचाने को, भगवान हस्तिनापुर आए, पांडव का संदेशा लाए।’ दो न्याय अगर तो आधा दो, पर इसमें भी यदि बाधा हो तो दे दो केवल पांच ग्राम, रखो अपनी धरती तमाम। हम वहीं खुशी से खाएंगे परिजन पर असि न उठाएंगे।

दुर्योधन वह भी दे न सका, आशीष समाज की ले न सका, उल्टे हरि को बांधने चला, जो था असाध्य साधने चला। जब नाश मनुज पर छाता है पहले विवेक मर जाता है। हरि ने भीषण हुंकार किया अपना स्वरूप विस्तार किया, डगमग-डगमग दिग्गज डोले, भगवान कुपित होकर बोले, जंजीर बढ़ा कर साध मुझे, हां हां दुर्योधन बांध मुझे।

इससे पूर्व भी विधायक यादव ने प्रतिपक्ष के नेता एवं अपने छोटे भाई तेजस्वी प्रसाद यादव के सलाहकार संजय यादव को निशाना बनाते हुए उन्हें प्रवासी सलाहकार कहा था। साथ ही यह भी कहा था कि प्रवासी सलाहकार हरियाणा में अपने परिवार में से किसी को सरपंच तक भी नहीं बना सकते हैं तो हमारे अर्जुन को वह खाक मुख्यमंत्री बनाएंगे। इसके साथ ही उन्होंने अपने और अपने समर्थकों की जान का खतरा भी बताया था। साथ ही आरोप लगाया था कि संजय यादव उनकी हत्या भी करवा सकते हैं।

उल्लेखनीय है कि प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव के दो दिन पूर्व दिल्ली जाने के बाद विधायक यादव भी कल रात सड़क मार्ग से दिल्ली के लिए रवाना हो गए। पूछने पर रक्षाबंधन का हवाला देते हुए कहा था कि उनकी बहनें दिल्ली में है। हालांकि बताया जा रहा है कि वह पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह के साथ ही प्रतिपक्ष के नेता की शिकायत करने के लिए राजद अध्यक्ष के पास गए हैं। राजद अध्यक्ष इन दिनों अपनी बड़ी पुत्री एवं राज्यसभा सांसद मीसा भारती के दिल्ली स्थित सरकारी आवास पर है।