तेेजस की ताकत बढी, हवा में ही भर सकेगा ईंधन

Tejas fighter clears one more milestone, IAF tests mid-air refueling on jet
Tejas fighter clears one more milestone, IAF tests mid-air refueling on jet

नई दिल्ली। देश में ही विकसित हल्के लड़ाकू विमान तेजस में उडान के दौरान हवा में ही ईंधन भरने का सफल परीक्षण किया गया है जिससे इसकी ताकत और मारक क्षमता बढ गई है।

वायु सेना के अनुसार तेजस में वायु सेना के टैंकर विमान आईएल-78 से उडान के दौरान मंगलवार को ईंधन भरा गया और इस दौरान एक अन्य तेजस विमान इस पूरी प्रक्रिया पर कड़ी नजर रखे हुए था।

टैंकर विमान ने आगरा वायु सेना स्टेशन से उडान भरी थी जबकि तेजस ने ग्वालियर से उडान भरी थी। इससे पहले तेजस विमान ने कई परीक्षण उडान भरी और टैंकर विमान के साथ बिना ईंधन लिए सफलतापूर्वक संपर्क साधा।

इस समूची प्रक्रिया के दौरान तेजस की गतिविधियों से संबंधित आंकडे ग्वालियर हवाई अड्डे पर स्थित नियंत्रण कक्ष में निरंतर भेजे जा रहे थे जहां वैज्ञानिक इन पर नजर रख इनका विश्लेषण कर रहे थे।

इस मिशन के दौरान तेजस को ग्रुप कैप्टन जोशी और आईएल-78 टैंकर को ग्रुप कैप्टन आर अरविंद उडा रहे थे। परीक्षण उडान से पहले सभी तरह के जमीनी परीक्षण भी किए गए थे।

इस सफल परीक्षण से स्वदेशी तेजस की ताकत बढी है और यह लंबी अवधि के मिशन को भी बखूबी अंजाम देने में सक्षम बन गया है। यह परीक्षण तेजस के लिए ‘फाइनल ऑपरेशनल क्लियरेंस’ का मार्ग प्रशस्त करेगा।