नियुक्ति पत्र पाने के बावजूद नियुक्त नहीं करने का मुद्दा लोकसभा में उठा

नियुक्ति पत्र पाने के बावजूद नियुक्त नहीं करने का मुद्दा लोकसभा में उठा
नियुक्ति पत्र पाने के बावजूद नियुक्त नहीं करने का मुद्दा लोकसभा में उठा

नयी दिल्ली । अखिल भारतीय बैंकिंग सेवा परीक्षा में उत्तीर्ण 40 छात्रों को नियुक्ति पत्र मिलने के एक साल बाद भी मेघालय बैंक में नियुक्त नहीं किये जाने का मुद्दा आज लोकसभा में उठा।

भारतीय जनता पार्टी के राजीव प्रताप रुडी ने शून्यकाल के दौरान यह मुद्दा उठाया और सरकार से तत्काल इस मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की। उन्होंने कहा कि बिहार, असम, गुजरात, राजस्थान, केरल और झारखंड के कम से कम 40 सफल अभ्यर्थियों ने पिछले दिनों उनसे मुलाकात की और बताया कि अखिल भारतीय बैंकिंग सेवा की परीक्षा में सफल होने वाले उम्मीदवारों को पिछले साल नियुक्ति पत्र दे दिया गया था और नियुक्ति की तारीख भी बता दी गयी थी। इसके बावजूद ये उम्मीदवार सड़क की खाक छान रहे हैं।

उन्हाेंने कहा कि इन अभ्यर्थियों को मेघालय बैंक में नियुक्त किया जाना था और लेकिन एक वर्ष बीत जाने और फिर से रिक्तियों को भरने के लिए विज्ञापन प्रकाशित हो जाने के बाद भी ये उम्मीदवार नियुक्ति से वंचित हैं। उन्होंने कहा कि अखिल भारतीय स्तर की परीक्षाओं में उत्तीर्ण होने वाले अभ्यर्थियों की नियुक्ति में किसी तरह का अड़ंगा लगाया जाना संवैधानिक अधिकारों का हनन है और सरकार को इस बारे में ध्यान देना चाहिए।