सेहत का खजाना है गुलाब का फूल

The Treasure of Health is the Flower of Gulab

The Treasure of Health is the Flower of Gulab

गुलाब को यूं ही फूलों का राजा नहीं कहा जाता। दिखने में यह फूल बेहद खूबसूरत हैं और इसकी हर पंखुड़ी में समाए हैं अनगिनत गुण। गुलाब जल का इस्तेमाल फेस मास्क में भी होता है और यह खाने को लज्जतदार बनाता है। गुलाब विटामिन ए,बी3,सी, डी और ई से भरपूर है। इसके अलावा इसमें कैल्शियम, जिंक और आयरन की भी मात्रा होती है। अस्थमा, हाई ब्लड प्रेशर, ब्रोकाइटिस, डायरिया, कफ, फीवर, हाजमे की गड़बड़ी में गुलाब का सेवन बेहद उपयोगी होता है। पेट दर्द, यूरिन से जुड़ी दिक्कतों में भी गुलाब की पंखुडिय़ों का पानी कारगर साबित होता है। गुलाब से बना गुलकंद एक आयुर्वेदिक टॉनिक है। गुलकंद को नियमित खाने पर पित्त के दोष दूर होते हैं तथा इससे कफ में भी राहत मिलती है। गर्मियों के मौसम में गुलकंद कई तरह के फायदे पहुंचाता है। हाजमा दुरूस्त रखता है और आलस्य दूर करता है। गुलकंद शरीर के तापमान को नियंत्रित करता है। सुबह-शाम एक-एक चम्मच गुलकंद खाने पर मसूड़ों में सूजन या खून आने की समस्या दूर हो जाती है। महिलाओं मे ंपीरियड के दौरान गुलकंद खाने से पेट दर्द में आराम मिलता है।

नींद न आती हो, मानसिक थकावट हो तो सिरहाने के पास गुलाब रखकर सोने से नींद आयेगी। गुलाब से बने गुलकंद में गुलाब का अर्क होता है जो शरीर को ठंडक पहुंचाता है। यह शरीर को डीहाइडेऊशन से बचाता है और तरोताजा रखता हे।

गुलकंद में विटामिन सी,ई और बी अच्छी मात्रा में पाया जाता है। भोजन के बाद गुलकंद का सेवन भोजन को पचाने के लिए फायदेमंद है और इसके सेवन से पाचन संबंधी समस्याएं दूर रहती है।

रोजाना चम्मच भर गुलकंद खाने से आंखों की रोशनी ठीक रहती है गर्मी के दिनों में घबराहट,बेचैनी के साथ जब दिल की धड़कने तेज हो जाती हैं, तब गुलाब को प्रात: चबाकर खाने से आराम मिलता है।

Video:ट्रेन में अगर आप सफर करते है, तो यह वीडियो ज़रूर देखे

गुलाब के साथ-साथ गुलाब जल भी बहुत गुणकारी होता है। गुलाब जल थकी हुई आंखों को तुरंत आराम प्रदान करने में बहुत मददगार होता है और गुलाब जल को आंखों में डालने से एक नई सी चमक आती है। अगर आप अधिकतर समय कंप्यूटर पर ही काम करते हैं तो गुलाब जल को अपनी आंखों में डालना न भूलें।

इसके अलावा अगर आप रोजाना गुलाबजल का उपयोग करती हैं तो त्वचा में मौजूद लालिमा और रूखेेपन का यह एक बहुत अच्छा क्लींजर है। गुलाबजल चेहरे में मौजूद तेल और गंदगी को हटाकर, त्वचा के रोमछिद्रों को खोलने का काम करता है, जिस कारण एक्ने और मुंहासों नहीं होते।

Video:फांसी की सजा के बाद पेन की निब क्यों तोड़ दी जाती है ? जाने इस वीडियो की मदद से

आधा सीसी के दर्द में 10 मिली ग्राम गुलाबजल में पिसा हुआ एक ग्राम नौसादर मिला लें। फिर 2-2 बूंदें नाक में टपका कर सांस जोर से खींचें। कुछ ही देर में आधा सीसी का दर्द दूर हो जाएगा। वजन घटाने के लिए गुलाब की पंखुडिय़ों का इस्तेमाल कर सकते हैं। गुलाब में न केवल एंटीसेप्टिक और एंटीफंगल गुण हैं बल्कि यह लैक्जेटिव और डयूरेटिक गुणों से भी भरा है। मेटाबालिज्म तेज होने के कारण शरीर में कैलोरी लॉस तेजी से होता है और वजन पर नियंत्रण रखने में मदद मिलती है।

आपको यह खबर अच्छी लगे तो SHARE जरुर कीजिये और  FACEBOOK पर PAGE LIKE  कीजिए, और खबरों के लिए पढते रहे Sabguru News और ख़ास VIDEO के लिए HOT NEWS UPDATE और वीडियो के लिए विजिट करे हमारा चैनल और सब्सक्राइब भी करे सबगुरु न्यूज़ वीडियो