महाराष्ट्र विधानसभा में अटल जी को दी श्रद्धांजलि, सभी हुए भावुक

मुंबई 19 नवंबर :- महाराष्ट्र विधानसभा में शीत सत्र के पहले दिन सोमवार को मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस ने पूर्व प्रधान मंत्री अटलबिहारी वाजपेयी तथा सदन के कुछ सदस्यों के निधन पर श्रद्धांजलि अर्पित की।
मुंबई में आठ दिनों तक चलने वाले इस शीत सत्र के पहले दिन श्री फडनवीस ने श्री वाजपेयी को सदन में श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि श्री वाजपेयी ‘बहुमुखी व्यक्तित्व’ के धनी थे और राजनीतिक विरोधियों को प्रतियोगी के रूप में देखते थे।

उन्होंने कहा कि श्री वाजपेयी दूरदर्शी के साथ कूटनीतिज्ञ भी थे। श्री वाजपेयी के शासनकाल में देश परमाणु शक्ति बना और पाकिस्तान के साथ ठोस बातचीत का आधार बनाया गया।
श्री फडनवीस ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय जवाहरलाल नेहरू को भी श्री वाजपेयी की राजनीतिक क्षमता पर विश्वास था।

विधानसभा में विपक्ष के नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल ने श्री वाजपेयी द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में विदेश मंत्री के पद पर रहने के समय हिंदी में भाषण दिये जाने की सराहना की और कहा कि वर्ष 1977 से 2003 के बीच में लगभग सात बार उन्होंने संयुक्त राष्ट्र महासभा में भाषण दिये।

श्री वाजपेयी के अलावा पूर्व राज्य मत्री आनंदराव देवकाटे, पूर्व राज्यमंत्री वसंतराव धोत्रे और पूर्व सदस्य मधवराव गायकवाड को भी सदन में श्रद्धांजलि दी गयी।