भाजपा के सामने कोई चुनौती नहीं – शिवराज सिंह चौहान

भाजपा के सामने कोई चुनौती नहीं - शिवराज सिंह चौहान
भाजपा के सामने कोई चुनौती नहीं – शिवराज सिंह चौहान

रतलाम । मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज कहा कि प्रदेश में कांग्रेस की ओर से कमलनाथ, ज्योतिरादित्य सिंधिया या दिग्विजय सिंह, कोई भी भारतीय जनता पार्टी के लिए चुनौती नहीं है।

जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान यहां आए चौहान ने संवाददाताओं से चर्चा में कहा कि प्रदेश में कमलनाथ, ज्योतिरादित्य सिंधिया या दिग्विजय सिंह कोई भी भाजपा के लिए चुनौती नहीं है, भाजपा और उन्हें, प्रदेश की जनता का भरपूर आशीर्वाद मिल रहा है। चौहान ने पूर्व मुख्यमंत्री श्री सिंह के संदर्भ में कहा कि वे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के खिलाफ अनर्गल बातें कर रहे हैं, उनके इसी तरह के बयानों से कांग्रेस की दुर्गति हो रही है। कांग्रेस नेताओं के बयानों के संदर्भ में उन्होंने कहा कि भगवान जिसको दारुण दुख देने वाला होता है, उसकी बुद्धि पहले भ्रष्ट कर देता है।

उन्होंने आरोप लगाया कि उन्हें जो प्रदेश मिला था, वह बीमारु और उजाड़ था, न सड़कें थी, न बिजली और ना पानी। उन्होंने स्थिति सुधारने के लिए क्रमबध्द तरीके से काम किया गया। पहले इसे बीमारु राज्य की श्रेणी से बाहर निकाला गया। आज सड़कें, बिजली और पानी की पर्याप्त व्यवस्था है। अब लोग कहने लगे है कि मध्यप्रदेश विकासशील राज्य बन चुका है। इससे आगे अब प्रदेश को समृद्ध बनाने की तैयारी करना है। इसके लिए प्रदेश की जनता से सुझाव मांगे जा रहे हैं। भाजपा नेता विक्रम वर्मा की अध्यक्षता में संकल्प पत्र समिति बनाई गई है, जो प्रदेश भर से सुझाव लेकर समृद्ध मध्यप्रदेश बनाने का संकल्प पत्र तैयार करेगी।

चौहान ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि वे जन आशीर्वाद यात्रा पर आपत्ति उठा रहे है और इसके लिए अजब-गजब तरीके अपना रहे है। उन्होने इसके विरोध में महाकालेश्वर बाबा को चिट्ठी लिखी, जो केवल अखबारों में छपने के लिए थी। चौहान ने कहा कि यदि उन्हें कुछ करना है, तो जनता के बीच जाकर ठोस काम करना चाहिए, लेकिन वे टोने-टोटके और भ्रम फैलाने का काम कर रहे है।

मुख्यमंत्री ने किसी का भी नाम लिए बिना कहा कि पार्टी के एक नेता ने नारियल फेंक दिया, उन्होंने नारियल फेंका या उनसे फिंकवाया गया, लेकिन इससे यह प्रमाणित होता है कांग्रेस टोने-टोटके के भरोसे चल रही है। चौहान ने शनिवार को उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर में आशीर्वाद लेने के बाद अपनी जन आशीर्वाद यात्रा शुरु की थी। यात्रा कल रतलाम जिले पहुंची थी।