भारत मोब लिंचिंग पर भाजपा और मूल संगठन से इन्होंने ने झाड़ा पल्ला

Ahp in sirohi district
Ahp in sirohi district

सबगुरु न्यूज-सिरोही। सबगुरु न्यूज को दिए विशेष साक्षात्कार अंतरराष्ट्रीय हिन्दू परिषद के जोधपुर संभाग के अध्यक्ष ने कहा कि विहिप की मेहनत से जो लोग सत्ता में पहुंच गए वो लोग हिन्दुत्व के उत्थान के अपने मूल उद्देश्य को भूल गए इसलिए अंतरराष्ट्रीय हिन्दु परिषद का गठन हुआ। उन्होंने कहा कि कोई भी भाई अलग नहीं होना चाहते, लेकिन ऐसी परिस्थितियां पैदा हुई कि अंतरराष्ट्रीय हिन्दु परिषद का गठन करना पड़ा।

रायजादा ने में मोब लिंचिंग के सवाल पर कहा कि उनका इस तरह के लोगों और संगठनों से कोई संबंध नहीं है। उन्होंने कहा कि उनके संगठन का मुख्य उद्देश्य हिन्दू समाज के वंचित वर्ग को शिक्षा, स्वास्थ्य और अन्य आधारभूत सुविधाओं के बारे में जागरूक करना और उनके माध्यम से सुगठित हिन्दू समाज की स्थापना करना है।
रायजादा ने दावा किया कि उनके संगठन का उद्देश्य हिन्दुज हिंदुत्व और हिंदुस्तान के उद्देश्य ओर उनके आ संगठन काम करेगा। उन्हीने कहा कि विभिन्न संगठन इसके लिए काम करते होंगे, उनसे हमारा कोई मतभेद नहीं है। लेकिन एएचपी का मूल उद्देश्य धारा 370, कॉमन सिविल कोड, कश्मीर में विस्थापित हिंदुओं का पुनर्वास है। इस पर कार्य किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि हमे देश के बाहर किसी भी धर्म विशेष को नहीं करना है। हमारा काम प्रत्येक व्यक्ति में राष्ट्रभाव जगाना है। अगर वो राष्ट्रविरोधी बात करते हैं तो विरोध करेंगे और अगर वो हमारे साथ हैं तो वो हमारे भाई हैं। जोधपुर संभाग के अध्यक्ष ने कहा कि हिन्दू किसी का धर्म परिवर्तन का जाम नहीं करता। ये कार्य दूसरे धर्म के लोग करते हैं। हिन्दू तो ये चाहता है कि हम भी आराम से रहें और दूसरे धर्मावलंबी भी आराम से रहें। इसी भावना से ही संगठन का निर्माण भी हुआ है।

जोधपुर संभाग उपाध्यक्ष रायजादा ने कहा कि हिन्दू समाज बहुत बड़ा है। इसमें वंचित लोग बहुत हैं। उन्हें शिक्षा और स्वास्थ्य से जोड़ना है और जागरूक करना है। उन्होंने अप्रत्यक्ष रूप से हिंदुओं के उत्थान की बात करने वाले लोगों पर चुटकी लेते हुए कहा कि आखिर कब तक बातें करेंगे, 70 साल हो गए हमें बातें करते करते।

उन्होंने कहा कि शिक्षा के साधन हमारे पास हैं, लेकिन हम उसके उपयोग के लिए जागरूक नहीं हैं। हम और हमारे कार्यकर्ता वंचितों के पास जाएंगे, उन्हें पढ़ाएंगे भी और आगे बढ़ाएंगे भी। उन्होंने कहा कि वनवासी क्षेत्र में जाने पर हमें विदेशी मानते हैं। उन्हें मुख्यधारा में लाना होगा।
जोधपुर संभाग अध्यक्ष ने कहा कि एएचपी का कोई राजनीतिक उद्देश्य नहीं है। यह पूर्ण रूप से सामाजिक संगठन है। इस संगठन में भाजपा और कांग्रेस दोनों से जुडे़ लोग हैं। उन्होंनेे कहा कि एएचपी अपने को राजनीतिक उद्देश्य से दूर रखने के लिए यह महत्वपूर्ण निर्णय किया गया है कि जिसे भी राजनीतिक क्षेत्र में जाना होगा उसे तुरंत ही संगठन से निकाल दिया जाएगा। हम पहले भुगतभोगी हैं ऐसे में संगठन पूर्व के अनुरूप काम नहीं करेगा।