इस गांव में आज भी निभाई जाती है ये अजीब परम्परा

This strange tradition is played in this village today.
This strange tradition is played in this village today.

पुराने रीती रिवाज लगभग खत्म हो ही रहे हैं. लेकिन देश के कुछ गाँव ऐसे भी हैं जहाँ पर कुछ रिवाज आज भी निभाए जाते हैं और पूरी परम्परा के साथ निभाई जाते हैं. अक्सर देखा गया है कि पुराने ज़माने में जब राजा महाराजाओं को प्रजा तक कोई सन्देश देना होता था तो वो ढोल, नगाड़े या ऐसी ही किसी चीज़ का इस्तेमाल करते थे. जिसे सुन कर सभी लोग इकठ्ठा हो जाते थे. एक ऐसी ही परंपरा है जो आज भी एक गाँव में जीवित है. जहाँ गाँव वालों को कोई सन्देश या कोई चेतावनी देना होती है तो इसी तरह लोगों को इकठ्ठा किया जाता है. ये परंपरा भीलवाड़ा के बागौर क्षेत्र में चली आ रही है. भीलवाड़ा के बागौर क्षेत्र में ढोल नहीं बल्कि प्राचीन शिव मंदिर में मौजूद घंटे को बजाकर लोगों को इकट्ठा किया जाता है. ये रिवाज कई सालों से चला आरहा है. और गाँव वाले इससे भली भाँती परिचित है. इतना ही नहीं इस घंटे की आवाज़ सुनते ही सारे लोग अपने कामों को छोड़कर तुरंत एक जगह पर एकत्रित होजाते हैं.

2018 में कोलकाता में शुरू होगा भारत का पहला फ्लोटिंग मार्किट

HOT NEWS UPDATE : आपकी मुसीबत के पीछे हो सकते है आपके डरावने सपने

 

HOT NEWS UPDATE : लड़की को रोते देख इस लड़के ने ऐसा क्या किया की वो हस पड़ी

 

आपको यह खबर अच्छी लगे तो SHARE जरुर कीजिये और  FACEBOOK पर PAGE LIKE  कीजिए,  और खबरों के लिए पढते रहे Sabguru News और ख़ास VIDEO के लिए HOT NEWS UPDATE