बिहार में कुरीतियों के खिलाफ जागृति आ रही है : नीतीश कुमार

Thousands form human chain against child marriage, dowry in Bihar

पटना। बिहार में बाल विवाह और दहेज प्रथा के खिलाफ रविवार को बनी मानव श्रृंखला के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में अब सामाजिक कुरीतियों के खिलाफ लोगों में जागृति आ रही है। उन्होंने कहा कि सामाजिक कुरीतियों के खिलाफ यह लड़ाई जारी रहेगी।

मानव श्रृंखला के सफल आयोजन के बाद संवाददाताओं से बातचीत करते हुए नीतीश ने कहा कि इस मानव श्रृंखला से लोगों में उत्साह का संचार हुआ है। उन्होंने कहा कि यह आयोजन लोगों के संकल्प के प्रकटीकरण के लिए हुआ है और यह आगे भी चलता रहेगा।

उन्होंने कहा कि बाल विवाह और दहेज के खिलाफ पहले से ही काननू हैं, लेकिन ये कुरीतियां रुकने के बजाए और फैलती जा रही हैं। इसलिए हम महात्मा गांधी के जन्म दिवस दो अक्टूबर से निरंतर अभियान चला रहे हैं और यह कार्यक्रम आगे भी जारी रहेगा।

नीतीश ने आलोचकों को इशारों ही इशारों में जवाब देते हुए कहा कि बिहार में सरकार न्याय के साथ सुशासन की चल रही है, जिसके तहत बुनियादी सुविधाओं को तेज गति से लोगों तक पहुंचाने का काम चल रहा है परंतु साथ-साथ कुरीतियों के खिलाफ भी जागरूकता अभियान चलेगा।

उन्होंने लोगों से ऐसे किसी भी विवाह समारोह में भाग नहीं लेने की अपील की, जिसमें दहेज लिया या दिया गया हो। उन्होंने कहा कि शराबबंदी के बाद से बिहार नशाबंदी की ओर बढ़ चला है। ऐसे अभियानों को निरंतर जारी रखने की जरूरत है।