मेरठ में दुल्हन की हत्या कर लूटपाट करने वाले गिरोह के तीन बदमाश अरेस्ट

Three held in NH-58 highway bride murder, loot case
Three held in NH-58 highway bride murder, loot case

मेरठ/लखनऊ। उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स ने मेरठ के दौराला क्षेत्र मेें 27 अप्रेल की रात नई नवेली दुल्हन की हत्या कर लाखों की नगदी और जेवरात आदि लुटने वाले गिरोह के तीन सदस्यों को बुधवार को गिरफ्तार कर लिया।

एसटीएफ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह ने लखनऊ में बताया कि हाईवे पर हत्या कर लूट करने वाले गिरोह के तीन बदमाशों गाजियाबाद निवासी अक्षय चौधरी उर्फ गोलू , विपिन शर्मा और विशाल चौधरी को मेरठ से गिरफ्तार कर लिया।

पकड़े गए बदमाशों के पास से एक तमंचा, कुछ कारतूस, मोटरसाइकिल, जेवरात, फर्जी नम्बर की कार, तीन मोबाइल फोन और 6500 की नकदी बरमाद की।

उन्होंने बताया कि 27 अप्रेल को गाजियाबाद के मसूरी इलाके से एक नई नवेली दुल्हन निकाह के बाद अपने पति और अन्य लोगों के साथ कार से मुजफ्फरनगर जा रही थी। दौराला इलाके में बदमाशों ने दूल्हे और दुल्हन की गाड़ी को ओवरटेक कर उनकी कार, लाखों की नकदी और जेवरात लूटकर दुल्हन को गोली मारकर फरार हो गए थे। दुल्हन की मुजफ्फरनगर के अस्पताल में मृत्यु हो गई थी।

सिंह ने बताया कि इस घटना के सम्बन्ध में मेरठ के पुलिस अधिकारियों ने इस घटना के खुलासे के लिए एसटीएफ से सहयोग प्रदान करने का अनुरोध किया गया। जिसके क्रम में उन्होंने मेरठ एसटीएफ की फील्ड इकाई को अभिसूचना संकलन और बदमाशों को पकड़ने के लिए अपर पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी के निर्देशन में एवं पुलिस उपाधीक्षक बृजेश कुमार सिंह के नेतृत्व में टीमे गठित कर जानकारी एकत्र करने के लिए अभिसूचना तन्त्र को सक्रिय किया गया।

उन्होंनेे बताया कि इसी क्रम में आज मुखबिर से सूचना मिली कि दिल्ली-हरिद्वार राष्ट्रीय राजमार्ग -58 पर मेरठ के दोैराला क्षेत्र में शादी करके कार से लौट रही दुल्हन की हत्या कर लूटपाट के अलावा 24 फरवरी को कार मालिक को गोली मारकर घायलकर लूटपाट करने वाला अक्षय चौधरी अपने दो साथियों के साथ मेरठ से दौराला होते हुए मुजफ्फरनगर की तरफ किसी घटना को अंजाम देने के लिए जाने वाला है।

सिंह ने बताया कि इस सूचना पर निरीक्षक धर्मेन्द्र यादव के नेतृत्व में एसटीएफ मेरठ टीम ने दौराला पुलिस के साथ आईएचएम कालेज गेट के पास एनएच-ं58 क्षेत्र में घेराबंदी कर ली। कुछ देर बाद मोटरसाकिल पर सवार तीन संदिग्ध मेरठ की तरफ से आते दिखाई दिए। मुखबिर की पुष्टि के बाद पुलिस टीम ने बल प्रयोग करते हुए तीनों बदमाशों को दबोच लिया।

उन्होंने बताया कि गिरफ्तार बदमाश अक्षय उर्फ गोलू ने पूछताछ पर बताया कि 27 अप्रैल की रात को उसने अपने साथी सूरज, धीरज चौधरी और हिमांशु उर्फ नरसी ने अपनी कार से गाजियाबाद की तरफ से आ रही सजी हुई कार जिसमें दूल्हा, दुल्हन और अन्य लोग सवार थे को सुभारती मेडिकल कालेज से पीछा करते हुए मौका पाकर मटोर गांव के पास ओवरटेक करके रात करीब साढ़े नाै बजे लूटने के इरादे से रोक लिया था।

गाड़ी की चाबी हिमांशु उर्फ नरसी ने छीनकर दुल्हन को पकड़ कर गहने छिनने का प्रयास किया। विरोध करने पर उसने दुल्हन को गोली मार दी और गहने लूट कर सड़क पर गिरा दिया तथा दूसरी महिला के पर्स जिसमें पैसे आदि सामान थे, को भी लूट लिया।

सिंह ने बताया कि विरोध को देखते हुए धीरज ने भी फायर कर दिया जो हिमांशु के हाथ में लगा और वह घायल हो गया। लूटपाट के बाद वे लोग कच्चे रास्ते से मोदीनगर पहुंचे। मोदीनगर के जीवन हास्पिटल में हिमांशु उर्फ नरसी का इलाज बाइक फिसलने से आई चोट बताकर कराया था। घटना में लूटी गई कार परतापुर क्षेत्र में लावारिस खडी मिली थी।

उन्होंने बताया कि इन बदमाशों ने यह भी बताया कि गिरोह के लोगों ने मिलकर 24 फरवरी की रात्रि में बिगबाइट होटल के सामने मेरठ बाइपास पर कार मालिक को गोली से घायलकर लूट लिया था। मोदीनगर ले जाकर उस कार पर दिल्ली की फर्जी नम्बर प्लेट लगा दी और मोदीनगर पार्किग में खडी कर दी थी। उक्त पार्किंग से कार बरामद कर ली गई है। गिरफ्तार बदमाशों को दौराला थाने में दाखिल करा दिया गया है। उनके विरूद्ध वैधानिक कार्रवाई स्थानीय पुलिस द्वारा की जा रही है।