बाराबंकी में पिता की हैवानियत से त्रस्त तीन सगी बहनें ट्रेन के आगे कूदी

बाराबंकी। उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में रिश्तों को कलंकित करने का मामला प्रकाश में आया है। पिता की हैवानियत से त्रस्त तीन सगी बहनों ने ट्रेन के आगे कूदकर जान देने की कोशिश की। इस घटना में तीनों बहनें घायल हो गई जिसमें एक का पैर कट गया। उन्हें जिला चिकित्सालय में भर्ती किया गया है। घायल बहनों ने पिता पर रेप करने का आरोप लगाया है।

पुलिस सूत्रों के अनुसार दरियाबाद इलाके की रहने वाली तीनों बहनें पिता की हैवानित से परेशान थीं। उनका कहना था कि अपनी छोटी बहन के साथ दुष्कर्म का प्रयास कर रहा था। विरोध करने पर आरोपी पिता ने तीनों को मारापीटा और घर से बाहर निकाल दिया।

इसी बात से परेशान तीनों बहनों ने कल दरियाबाद रेलवे स्टेशन पहुंचकर ट्रेन के आगे छलांग लगा दी। ट्रेन की चपेट में आने से 22 वर्षीय बड़ी लड़की का एक पैर कट गया जबकि 17 साल और 16 साल की बहनें भी घायल हो गई।

स्थानीय लोगों की मदद से पुलिस ने तीनों बहनों को जिला चिकित्सालय भेजा है। तीन बहनें के आत्महत्या करने की कोशिश के बाद आरोपी घर से फरार हो गया।

अस्पताल में गंभीर हालत में बड़ी बहन ने बताया कि वह पांच बहन व एक भाई हैं। उसके पिता एक नेटवर्किंग कंपनी में काम करते हैं। आरोप लगाया कि पिता उसके साथ रात में आकर हैवानियत करते थे, विरोध करने पर भागने की धमकी देते थे। मेरी मां को पिता की करतूत का जब पता चल गया तो उन्हें इतना मारापीटा कि वह घर छोडऩे पर मजबूर हो गईं थी। मेरी मां अपने मायके लखनऊ स्थित चौपटियां चौक में रहती हैं।

यह सिलसिला कई महीनों से चल रहा जब मेरी छोटी बहन के साथ यही सिलसिला शुरू किया तो वह चिल्लाने लगी तब हम तीनों बहनों ने विरोध किया। इस पर पिता ने पहले तीनों की पिटाई की, उसके बाद घर से निकाल दिया। पुलिस आरोपी पिता की तलाश कर रही है लेकिन अभी तक वह पुलिस की पकड़ में नहीं जा सका।