त्रिपुरा में भतीजी को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में तृणमूल नेता अरेस्ट

अगरतला। पूर्वी अगरतला महिला पुलिस ने तृणमूल कांग्रेस नेता पन्ना देव को अपनी भतीजी को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में रविवार को गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस ने बताया कि किशोरी राजश्री देव शुक्रवार सुबह इंदिरा नगर स्थित अपने घर में फांसी पर लटकी मिली। उसके घर से एक सुसाइड नोट बरामद किया गया जहां मृतक ने अपनी मौत के लिए पन्ना देव और उसकी बहन पुतुल देव को जिम्मेदार ठहराया।

घटना के फैलने के तुरंत बाद, सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी की महिला इकाई की कार्यकर्ता मौके पर पहुंची और पन्ना देव को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में गिरफ्तार करने की मांग की। पुलिस ने घटना की जांच शुरू की और इस बीच राज्य फोरेंसिक प्रयोगशाला की एक टीम ने भी शव का निरीक्षण किया।

जांच करने वाली पुलिस टीम ने दावा किया कि उन्होंने पिछले दो दिनों में मृतक के पिता तपन देव और परिवार के अन्य लोगों का बयान दर्ज किया है।

अनुमंडल पुलिस अधिकारी (सदर) रमेश यादव ने कहा कि पन्ना देव को इस बार उसके घर से उठाया गया और वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के साथ लंबी पूछताछ के बाद उसे चिकित्सकीय जांच के बाद गिरफ्तार कर लिया गया।

इस बीच, टीएमसी नेताओं ने पन्ना की गिरफ्तारी के पीछे भाजपा की साजिश होने का आरोप लगायाया और दावा किया कि पुलिस सत्ताधारी पार्टी को संतुष्ट करने के लिए एक साजिश रचने की कोशिश कर रही है।

तृणमूल नेता सुष्मिता देव ने मीडिया से कहा कि केंद्रीय वित्त मंत्री अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तृणमूल प्रमुख ममता बनर्जी के खिलाफ पश्चिम बंगाल चुनाव में समान खेल खेले थे, लेकिन सफल नहीं हो सके। यहां वे तृणमूल को रोकने के लिए इस तरह के दबाव की रणनीति अपना रहे हैं।