चुनाव आयोग के खिलाफ सुप्रीमकोर्ट जाएंगी ममता बनर्जी

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री एवं तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी ने रविवार को कहा कि वह चुनाव आयोग के खिलाफ उच्चतम न्यायालय का रुख करेंगी।

बनर्जी नंदीग्राम विधानसभा सीट से हार गई हैं जबकि उनकी पार्टी तृणमूल कांग्रेस राज्य में बड़ी जीत दर्ज करते हुए तीसरी बार सत्तारुढ़ होने के लिए तैयार है।

सुश्री बनर्जी ने मीडियाकर्मियों को संबोधित करने के दौरान तृणमूल कांग्रेस को पश्चिम बंगाल में तीसरी बार सत्ता में लाने के लिए राज्य की जनता काे धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि मतदाताओं ने विधानसभा के लिए तृणमूल कांग्रेस को चुना है और भारतीय जनता पार्टी को अस्वीकार कर दिया है।

सुश्री बनर्जी ने नंदीग्राम में भाजपा उम्मीदवार शुवेंदु अधिकारी से 1957 मतों से हारने के बाद कहा कि नंदीग्राम को लेकर चिंतित न हों। मैंने नंदीग्राम के लिए संघर्ष किया क्योंकि मैंने एक आंदोलन चलाया। नंदीग्राम के लोग जो भी फैसला करना चाहते हैं, उन्हें करने दें। मैं इसे स्वीकार करती हूं। मुझे कोई आपत्ति नहीं है। हम 221 से अधिक सीट जीते हैं और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) चुनाव हार गई है।

इससे पहले ऐसी रिपोर्टें आईं थी कि सुश्री बनर्जी नंदीग्राम में 1,200 मतों से जीती हैं। बाद में चुनाव आयोग ने कहा कि नंदीग्राम से भाजपा उम्मीदवार शुवेंदु अधिकारी की 1957 मतों से जीत हुई है।

सुश्री बनर्जी ने कहा कि वह सभी विपक्षी दलों से चुनाव आयोग के खिलाफ उच्चतम न्यायालय में जाने के लिए एकजुट होने की अपील करेंगी। उन्होंने कहा कि सभी राजनीतिक दलों को इसपर विचार करना चाहिए कि एक संवैधानिक संस्था को इस तरह से काम नहीं करना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार से राज्य के लोगों को कोविड-19 का टीका मुफ्त में देने की मांग भी की। उन्होंने अपने समर्थकों से महामारी के कारण जीत की रैली नहीं निकालने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि उचित समय पर ब्रिगेड परेड ग्राउंड में बड़ा उत्सव होगा।

पश्चिम बंगाल जीता, नंदीग्राम सीट पर BJP से हार गईं ममता बनर्जी