फर्जी निकला एसिड अटैक, ब्वॉयफ्रेंड की खातिर रची थी साजिश

To save boyfriend from rape charge, woman plans 'acid attack' on herself
To save boyfriend from rape charge, woman plans ‘acid attack’ on herself

मेरठ। उत्तर प्रदेश में मेरठ के लालकुर्ती क्षेत्र के पैठ बाजार में महिला खिलाड़ियों पर तेजाब फेंकने का मामला पुलिस जांच में पूरी तरह फर्जी पाया गया है।

पुलिस अधीक्षक (नगर) मान सिंह चौहान ने शनिवार को बताया कि जांच में सामने आया है कि पीड़ित महिला खिलाड़ी ने अपनी सहेली के साथ मिलकर यह साजिश रची।

उन्होंने बताया कि इसके तहत तेजाब हमले की आरोपी सोनी ने तथाकथित तेजाब पीड़िता के प्रेमी पर मुकदमा दर्ज कराया था। जिसे लेकर महिला खिलाड़ी आरोपी सोनी से समझौते के लिए दबाव बना रही थी। समझौते के लिए सोनी जब नहीं मानी तो महिला खिलाड़ियों ने उसे फंसाने के लिए यह चाल चली।

इस मामले में गिरफ्तार किए गए आरोपियों से जब पुलिस ने सख्ती की तो उन्होंने स्वीकार किया कि अपने प्रेमी को बचाने के लिए महिला खिलाड़ी ने खुद पर तेजाब फिंकवाने की साजिश रची थी।

गौरतलब है कि गत 28 फरवरी को 19 वर्षीया गरिमा और 21 वर्षीय शालू ने लालकुर्ती थाने में मुकदमा दर्ज कराया कि जब वे सुबह व्यायाम तथा प्रैक्टिस के लिए कैलाश प्रकाश स्टेडियम जा रही थी तो पैंठ बाजार में मोटरसाइकिल सवार एक युवती और दो युवकों ने उनपर तेजाब फेंक दिया।

इसमें दोनों महिला खिलाड़ी झुलस गई थीं और उन्हें एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। पुलिस ने तेजाब डालने की आरोपी युवती सोनी और उसके जीजा विजय को गिरफ्तार कर लिया था।