मां से मिलते ही फूट-फूट कर रो पड़ीं मीराबाई चानू

इम्फाल। टोक्यो ओलम्पिक में रजत पदक जीतकर नया इतिहास बनाने वाली महिला भारोत्तोलक मीराबाई चानू का अपनी गृहराज्य मणिपुर के बीर टिकेन्द्रजीत अंतराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर जबरदस्त स्वागत किया गया जबकि मीराबाई इस दौरान अपनी मां से मिलकर फूट-फूट कर रो पड़ीं।

राज्य के मुख्यमंत्री एन बिरेन सिंह ने मीराबाई का हवाई अड्डे पर स्वागत करने के बाद उनका अभिनन्दन किया। दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय की तरह यहां भी हवाई अड्डे पर मीडियाकर्मियों और अपनी नायिका की एक झलक पाने के लिए खेल प्रेमियों की भारी भीड़ थी।

चानू ने गत शनिवार को महिला 49 किग्रा वर्ग में रजत पदक जीतकर नया इतिहास बनाया था। मीराबाई अपनी मां सैखोम ओंगबी तोम्बी लीमा और पिता सैखोम कृति मतई से गले लगकर फूट-फूट कर रो पड़ीं । सुरक्षा गार्डों ने उनके चारों तरफ एक सुरक्षा घेरा बनाया था।

हवाई अड्डे से वह मणिपुर सरकार द्वारा आयोजित सम्मान समारोह में हिस्सा लेने पहुंचीं जिसे मुख्यमंत्री की तरफ से आयोजित किया गया। मीराबाई चानू को उनके राज्य मणिपुर में पुलिस विभाग में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (खेल) नियुक्त किया जाएगा। मुख्यमंत्री एन बिरेन सिंह ने सोमवार को यह घोषणा की थी।

मुख्यमंत्री ने मीडियाकर्मियों से बातचीत करते हुए यह भी कहा कि उनकी सरकार मीराबाई को एक करोड़ रुपए देगी जैसा पहले एलान किया गया था। उन्होंने साथ ही कहा कि ओलम्पियन जूडोका सुशीला देवी को कॉन्स्टेबल से प्रमोट कर सब इंस्पेक्टर बनाया जाएगा।

उन्होंने दोहराया कि राज्य से ओलम्पिक में भाग लेने वाले सभी प्रतियोगियों को 25-25 लाख रुपए दिए जाएंगे। मुख्यमंत्री ने साथ ही घोषणा की कि राज्य सरकार ने राज्य में विश्व स्तरीय भारोत्तोलन अकादमी स्थापित करने का निर्णय भी ले लिया है।