पीवी सिंधू सेमीफाइनल में हारी, अब कांस्य के लिए खेलेंगी

टोक्यो। पिछले रियो ओलम्पिक की रजत विजेता और मौजूदा विश्व चैंपियन पीवी सिंधू को शनिवार को चीनी ताइपे की ताई जू यिंग के हाथों सेमीफाइनल में 18-21, 12-21 से हार का सामना करना पड़ा और इस हार के बाद सिंधू अब टोक्यो ओलम्पिक में कांस्य पदक के लिए चीन की ही बिंगजिआओ के खिलाफ खेलेंगी।

जू यिंग ने इस जीत के साथ फाइनल में स्थान बना लिया। सिंधू 40 मिनट में इस हार के बाद अब अपने पिछले रियो ओलम्पिक में जीते रजत पदक का बचाव नहीं कर पाएंगी। सिंधू और जू यिंग के बीच पहले गेम में कड़ा संघर्ष देखने को मिला। दोनों एक एक अंक के लिए कड़ा संघर्ष करती रहीं।

सिंधू ने एक समय पहले गेम में 16-14 की बढ़त बना ली लेकिन जू यिंग ने वापसी करते हुए स्कोर 17-17 से बराबर कर दिया। पहले गेम में 18-18 के स्कोर पर सिंधू का रिटर्न नेट में उलझा और जू यिंग 19-18 से आगे हो गईं। मैच में 20-18 के स्कोर पर जू यिंग ने जोरदार स्मैश लगाया और पहला गेम 21-18 से जीत लिया।

दूसरे गेम में जू यिंग पूरी तरह से हावी रहीं और मनमाने ढंग से अपनी बढ़त को आगे बढ़ाती रहीं। सिंधू ने इस गेम में ज्यादा गलतियां कीं और जू यिंग की बढ़त मजबूत होती रही। सिंधू हताश होती रहीं और मौका उनके हाथ से निकलता रहा।

जू यिंग को दूसरे गेम में शटल के नेट के ऊपरी हिस्से से टकराकर कोर्ट में गिर जाने से मिले अंकों का भी फायदा मिला और उन्होंने दूसरा गेम 14-8, 17-9 की बढ़त बनाते हुए 21-12 से जीतकर फाइनल में स्थान बना लिया। पहला गेम 21 मिनट और दूसरा गेम 19 मिनट तक चला।

सिंधू और जू यिंग के बीच पहले गेम में कड़ा संघर्ष देखने को मिला। दोनों एक एक अंक के लिए कड़ा संघर्ष करती रहीं। पहले गेम में 18-18 के स्कोर पर सिंधू का रिटर्न नेट में उलझा और जू यिंग 19-18 से आगे हो गयीं। मैच में 20-18 के स्कोर पर जू यिंग ने जोरदार स्मैश लगाया और पहला गेम 21-18 से जीत लिया।

दूसरे गेम में जू यिंग पूरी तरह से हावी रहीं और मनमाने ढंग से अपनी बढ़त को आगे बढ़ाती रहीं। सिंधू ने इस गेम में ज्यादा गलतियां कीं और जू यिंग की बढ़त मजबूत होती रही।सिंधू हताश होती रहीं और मौका उनके हाथ से निकलता रहा। जू यिंग ने दूसरा गेम 21-12 से जीतकर फाइनल में स्थान बना लिया।