लद्दाख राजमार्ग पर तीन दिनों के बाद यातायात बहाल

Traffic resumes on Ladakh highway after three days

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी कश्मीर को लद्दाख क्षेत्र से जोड़ने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग पर तीन दिनों के बाद शुक्रवार को यातायात फिर से बहाल हो गया। भूस्खलन के कारण गत मंगलवार से ही राजमार्ग पर यातायात बंद था।

यातायात पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि मध्य कश्मीर के सोनमार्ग से द्रास दर्रे के बीच शैतान नल्लाह के पास भूस्खलन के कारण गत मंगलवार दोपहर के बाद से विभिन्न स्थानों पर रुके सभी वाहनों को आज सुबह रवाना कर दिया गया। इसके साथ ही 434 किलोमीटर लंबे श्रीनगर-लेह राष्ट्रीय राजमार्ग पर यातायात फिर से शुरु हो गया।

राजमार्ग के रखरखाव के लिए जिम्मेदार सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) ने अत्याधुनिक मशीनों तथा कर्मियों के साथ भूस्खलन के मलवे हटाने के काम किया। अधिकारी ने कहा कि भूस्खलन के कारण क्षतिग्रस्त हुए दोनों वाहनों को हटा दिया गया। दोनों वाहनों के चालकों तथा कंडक्टरों को भी सुरक्षित बचा लिया गया।

उन्होंने बताया कि कश्मीर की ओर जाने वाले खाली ट्रकों और तेल टैंकरों सहित सभी वाहनों काे आज सुबह साढ़े पांच बजे से श्रीनगर की ओर रवाना किया गया। लद्दाख जाने वाले वाहनों को सोनमार्ग से साढे 11 बजे से उनके गंतव्य स्थानों की ओर रवाना किया जाएगा।

इस बीच कश्मीर घाटी को देश के बाकी हिस्सों से जोड़ने वाले इस राजमार्ग पर यात्री और हल्के वाहनों को दोनों ओर से आने-जाने की इजाजत दी गयी है। यातायात जाम और दुर्घटना से बचने के लिए भारी वाहनों को केवल एक ओर से जाने की इजाजत होगी। भारी वाहन केवल जम्मू से श्रीनगर की ओर चलेंगे तथा विपरित दिशा से सुरक्षा बलों समेत किसी भी प्रकार के वाहन काे चलने की इजाजत नहीं होगी।